Uttrakhand News :कांग्रेस ने उत्तराखंड मैं बदला प्रदेश प्रभारी,पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा को सौंपी गई जिम्मेदारी

ख़बर शेयर करें -

कांग्रेस नेतृत्व ने आखिरकार उत्तराखंड में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव को बदल दिया। यह जिम्मेदारी अब पार्टी की वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा को सौंपी गई है।

पार्टी में राष्ट्रीय स्तर पर बड़े दायित्वों का निर्वहन कर चुकीं कुमारी सैलजा की नियुक्ति को प्रदेश में कांग्रेस के क्षत्रपों में संतुलन साधने और लोकसभा चुनाव में संगठन को धार देने की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है।

💠देवेंद्र यादव वरिष्ठ नेताओं के निशाने पर आ गए थे

उत्तराखंड में वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की पराजय के बाद प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव वरिष्ठ नेताओं के निशाने पर आ गए थे। विधायकों, पूर्व विधायकों के साथ ही वरिष्ठ नेताओं ने विधानसभा चुनाव के बाद उन्हें हटाए नहीं जाने पर नाराजगी भी व्यक्त की थी।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :राष्ट्रीय राजमार्ग की क्षतिग्रस्त सुरक्षा दीवारों के जल्द सुधारीकरण की जगी उम्मीद,दो करोड़ रुपये का बजट हुआ स्वीकृत

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह समेत अन्य कई वरिष्ठ नेताओं के साथ समन्वय स्थापित करने की चुनौती से देवेंद्र यादव को लगातार जूझना पड़ रहा था। ऐसे में यह कयास लग रहे थे कि कांग्रेस नेतृत्व उत्तराखंड में प्रदेश प्रभारी का जिम्मा अपेक्षाकृत अधिक अनुभवी एवं वरिष्ठ नेता को सौंप सकता है।

💠कांग्रेस नेतृत्व ने कुमारी सैलजा को दायित्व देने के आदेश जारी किए

शनिवार को कांग्रेस नेतृत्व ने प्रदेश प्रभारी के रूप में कुमारी सैलजा को दायित्व देने के आदेश जारी किए। लोकसभा चुनाव से पहले उत्तराखंड में कुमारी सैलजा को प्रभारी बनाने को कई दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। सैलजा आरक्षित वर्ग से पार्टी का बड़ा चेहरा हैं। उत्तराखंड में अंबिका सोनी के बाद कुमारी सैलजा दूसरी महिला हैं, जिन्हें प्रभारी का दायित्व दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें शुक्रवार 16 फरवरी 2024

इससे पहले वह वर्ष 2017 में उत्तराखंड में हुए विधानसभा चुनाव में स्क्रीनिंग कमेटी में सम्मिलित रही थीं। हाल ही में छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान वह वहां की प्रदेश प्रभारी थीं। उस दौरान कांग्रेस नेतृत्व ने छत्तीसगढ़ में वरिष्ठ पर्यवेक्षक के रूप में उत्तराखंड से प्रीतम सिंह को तैनात किया था।

💠लोकसभा चुनाव पर रहेगा ध्यान

कांग्रेस नेतृत्व उत्तराखंड में पार्टी के जनाधार को वापस पाने के लिए हाथ-पांव मार रहा है। ऐसे में प्रदेश के दिग्गजों को साधकर लोकसभा चुनाव से पहले एकजुटता से कांग्रेस के पक्ष में वातावरण बनाने की चुनौती कुमारी सैलजा के सामने है। पार्टी ने भी इस चुनाव से पहले प्रदेश प्रभारी बदलकर अपनी बदली हुई रणनीति के संकेत भी दे दिए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *