गरुड़ ब्लॉक में त्रिस्तरीय पंचायतों के निर्वाचित प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों को दिया गया प्रशिक्षण

ख़बर शेयर करें -

 

जनपद बागेश्वर के गरुड़ ब्लॉक के सभागार में पंचायत राज निदेशालय उत्तराखंड के तत्वाधान में जन जागरण समाज सेवी संस्था डाकपत्थर के द्वारा त्रिस्तरीय पंचायतों के निर्वाचित प्रतिनिधियों एवं कार्मिकों हेतु ग्राम पंचायत विकास योजना विषय पर दो दिवसीय प्रशिक्षण का आज सुभारंभ किया गया

 

 

 

 

 

कार्यक्रम की शुरुवात बीडीओ के डी जोशी ग्राम पंचायत विकास अधिकारी अनुपम शाह ,दीपक सिंह नारायण सिंह, हेमा जोशी, पूजा वर्मा, और ग्राम प्रधानों और क्षेत्र पंचायत सदस्यों की मौजूदगी में दीप प्रज्वलित कर किया गया कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्य प्रशिक्षिका विभु कृष्णा ने सभी जनप्रतिनिधियों को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कार्यक्रम की शुरुवात की।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

उन्होंने अनुरोध किया की ग्राम पंचायत के पदाधिकारी प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्यों को इन विभागों से संपर्क कर अपनी ग्राम की ग्राम पंचायत विकास योजना में सम्मिलित करते हुए योजना बनाएं इस अवसर पर सहायक विकास अधिकारी (कृषि )विभाग से आए सुंदर प्रसाद जी ने बीज ग्राम योजना के बारे में बताया कि इस योजना के अंतर्गत कृषकों को उन्नत किस्म के बीज प्रदान किए जाते हैं साथ ही अपनी भूमि का मृदा परीक्षण कर मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनवाने, जैविक कृषि को बढ़ावा देने,साथ ही किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानकारी दी।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breking अल्मोड़ा पुलिस ने अपराधी हिस्ट्रीशीटर सोनू पवार को किया जिला बदर

 

 

 

 

वही उद्यान विभाग से आए नारायण सिंह जी ने गेंदे की खेती करने पर जोर दिया उनका कहना था कि इसमें कम मेहनत में ज्यादा पैदावार होती है और इसे जंगली जानवर भी कोई नुकसान नही पहुंचाते हैं उन्होंने बताया कि यदि इसे व्यवसायिक रूप में किया जाए तो इससे अच्छा मुनाफा लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड राजधानी के होटल में देह व्यापार का धंधा एएचटीयू ने किया पर्दाफास

 

 

 

मुख्य प्रशिक्षक विभु कृष्णा ने इस अवसर पर विभिन्न जागरूक परक खेल और डॉक्यूमेंटरी फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया।इस अवसर पर कुछ ग्राम प्रधानों का कहना था कि मनरेगा में आज के समय में सिर्फ 210 रुपए में कोई भी व्यक्ति काम नहीं करना चाहता है यह बात भी सामने आई की जीपिडीपी बनाते समय योजना में विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु रेखीय विभागों के अधिकारियों प्रतिनिधियों को भी सामिल करें क्योंकि बिना रेखीय विभागों को सामिल किए बिना जीपीडीपी बनाने का कोई अर्थ नही है।इस अवसर पर विभु कृष्णा, अंजली अधिकारी , दीपक पेटशाली, प्रकाश आदि मौजूद रहे।

Ad
Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments