Udham Singh Nagar:जीबी पंत कृषि विश्वविद्यालय पंतनगर समेत 4 नामी विश्वविद्यालय को अनुदान आयोग (यूजीसी) ने डिफाल्टर किया घोषित

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड का प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जीबी पंत कृषि विश्वविद्यालय पंतनगर को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने डिफाल्टर घोषित कर दिया है। यूजीसी की सूचना के मुताबिक विश्वविद्यालय ने तय समय सीमा में लोकपाल की नियुक्त नहीं करने के चलते यह सूचना जारी की।

यूजीसी द्वारा जारी देश के करीब 20 डिफॉल्टर विश्वविद्यालयों की सूची में उत्तराखंड के 4 नामी विश्वविद्यालयों के नाम शामिल हैं। इनमें उत्तराखंड के जीबी पंत कृषि विश्वविद्यालय पंतनगर के अलावा हेमवती नंदन बहुगुणा चिकित्सा शिक्षा विश्वविद्यालय देहरादून, उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय देहरादून, वीर चंद्र सिंह गढ़वाली उत्तराखंड विश्वविद्यालय ऑफ हार्टीकल्चर एंड फारेस्ट्री पौड़ी गढ़वाल हैं। यह सार्वजनिक सूचना यूजीसी के सचिव प्रो. मनिष आर जोशी की ओर से जारी की गई है।

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :मौसम विभाग ने तेज बारिश का येलो अलर्ट किया जारी, जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

💠लोकपाल करते हैं विद्यार्थियों की समस्याओं का निवारण  

देश के सभी विश्वविद्यालयों और उच्च शिक्षण संस्थानों में विद्यार्थियों की शिकायतों का निराकरण करने के लिए लोकपाल की नियुक्ति करना थी। यूजीसी ने विद्यार्थियों की शिकायतों के लिए शिकायत निवारण विनियम-2023 को अधिसूचित कर दिया था। इसके तहत प्रवेश संबंधी गड़बड़ी, फीस, सर्टिफिकेट वापस न करना, उत्पीड़न, परीक्षा संचालन में अनियमितता, छात्रवृति, दाखिले को लेकर गड़बड़ी, आरक्षण नियमों का पालन न करना जैसी अन्य शिकायतों पर अब 15 कार्य दिन में समिति को रिपोर्ट करने और निपटारा करने का दायित्व लोकपाल का होता है।

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें शनिवार 13 जुलाई 2024

मामले में विश्वविद्यालय का पक्ष जानने के फोन किया गया तो कुलपति और कुलसचिव ने फोन ही नहीं उठाया। जबकि निदेशक संचार डॉ जेपी जायसवाल ने अपर निदेशक प्रशासन डॉ विवेकानंद से पक्ष लेने की बात कही। वहीं डॉ विवेकानंद ने मामले से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि इस मामले को कुलसचिव देख रही हैं, उनसे पूछिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *