सोच संस्था ने छात्राओं के मध्य जागरूकता और सैनिटरी पैड वितरण कार्यक्रम कर पैड डे के रूप में मनाया वेलेंटाइन डे*

ख़बर शेयर करें -

*सोच संस्था ने छात्राओं के मध्य जागरूकता और सैनिटरी पैड वितरण कार्यक्रम कर पैड डे के रूप में मनाया वेलेंटाइन डे पीरियड्स, माहवारी को लेकर SOCCH NGO ने आर्य कन्या इंटर कॉलेज में चलाया जागरूकता और पैड वितरण अभियान, संस्था के कामो से प्रेरित होकर अध्यापकों ने किया आर्थिक  सहयोग*

अल्मोड़ा: पीरियड्स यानी माहवारी एक ऐसा विषय है जिसके संबंध में आज भी हमारे समाज में खुलकर बात नहीं की जाती है। पीरियड्स की प्रकिया से गुजरने वाली लड़कियां भी इस पर खुलकर बोलने में शर्माती हैं। जिससे इसके संबंध में लोगों का ज्ञान आधा-अधूरा ही है। इसका परिणाम यह है कि महिलाओं और किशोरियों को माहवारी के दौरान तमाम चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इन्ही चुनौतियों को दूर करने के लिए SOCCH NGO लगातार कार्य कर रहा है। मंगलवार को सोच संस्था ने आर्य कन्या इंटर कालेज अल्मोड़ा के सभागार में SOCCH संस्था द्वारा माहवारी सम्बंधित जागरूकता अभियान आयोजित किया गया। 14 फरवरी वैलेंटाइन डे को संस्था द्वारा पैड डे के रूप में मनाया गया।
इस अवसर पर एसएसजे परिसर अल्मोड़ा के सांख्यिकी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. नीरज तिवारी, रिटायर्ड शिक्षक आनंद सिंह बिष्ट मौजूद रहे।

संस्था की ओर से कार्यक्रम का संचालन हिमांशी भंडारी ने करते हुए स्कूली छात्राओं को पीरियड्स से जुड़ी महत्वपूर्ण बातों को समझाया। उन्होंने आशीष के शोध कार्य पर पहाड़ एक्सप्रेस द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्री फ़िल्म दिखाकर और पीरियड्स से जुड़ी कुछ जानकारियां छात्राओं को देकर उन्हें सहज किया। संस्था की वालंटियर हिमांशी और प्रियंका ने माहवारी के दौरान प्रयोग किये जाने वाले सेनिटरी नैपकिन के बारे में भी विद्यार्थियों को बताया साथ ही पैड को किस प्रकार से इस्तेमाल किया जाता है इसका प्रैक्टिकल करके भी बताया।

यह भी पढ़ें 👉  uttrakhand: 01 अप्रैल से बिजली और पानी के दामों में 12 फीसदी तक की जाएगी बढोत्तरी

संस्था की ओर से आशीष ने कहा कि निकट भविष्य में उनके अनेको अभियान प्रस्तावित हैं वो विभिन्न प्रोजेक्ट्स को लेकर काम कर रहे हैं जिससे छात्राएं एवं महिलाएं पीरियड्स के प्रति जागरूक हो एवं कपड़े की जगह सेनिटरी पैड्स का प्रयोग करें।

इस मौके पर प्रो. नीरज तिवारी ने कहा की सोच संस्था लगातार काफी समय से स्कूलों, गावों में मासिक धर्म विषय को लेकर जागरूकता अभियान चला रही है यह काफी सराहनीय कार्य है।
रिटायर्ड शिक्षक आनंद सिंह बिष्ट ने सोच संस्था के द्वारा किए जा रहे कार्यों की सराहना की और सभी से संस्था को सहयोग करने की अपील की।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर में नवरात्रि में नारी शक्ति उत्सव को लेकर प्रशासन जुटा तैयारी में

संस्था की ओर से राहुल जोशी ने कहा की कि वो इस डाटा से स्कूली छात्राओं को माहवारी के दौरान आने वाली समस्याओं का आंकलन करेंगे, जिसके पश्चात उन समस्याओं को दूर करने हेतु योजना बनाई जाएगी। साथ ही उन्होंने सभी शिक्षकों से संस्था के साथ जुड़ कर सामाजिक कुरीतियां को दूर करने की में उनका सहयोग आर्थिक रूप से करने की भी अपील की।

सोच संस्था द्वारा इस दौरान छात्र एवं छात्राओं को सेनिटरी पैड्स भी वितरित किये गए। संस्था की वॉलिंटियर्स दीपाली, विद्या एवं प्रियंका ने स्कूली छात्राओं का साक्षात्कार अनुसूची के माध्यम से डाटा लिया, जिसमें माहवारी से संबंधित प्रश्नों की सूची थी।

कार्यक्रम में प्राचार्य पी. एल. शाह, शिक्षक दीप्ति शाह, किरण पांडे, चंपा शाह, मनीषा तिवारी, कमला तिवारी, कल्पना जोशी, सुमन पांडे, निर्मला वर्मा, निर्मला रावत आदि मौजूद रहे। सोच संस्था की वोलेंटियर प्रियंका सलाल, दीपाली भट्ट, हिमांशी भण्डारी, विद्या मेहरा, सोनी, सुचेता, ऋतिक नयाल, नेहा, वर्सिता आदि भी मौजूद रहे।

Ad
Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments