Pithoragarh News:भारी बारिश के बाद पिथौरागढ़ में 10 और चंपावत में नौ सड़कें अब भी बंद

ख़बर शेयर करें -

कल जिले में बृहस्पतिवार को हुई बारिश के कारण कई सड़कों पर मलबा आ गया। धारचूला में सबसे अधिक 36.2 मिमी बारिश के कारण सड़क पर मलबा आने से सड़क खोलने में काफी दिक्कत हुई।

🔹मलबे ने बढ़ाई मुसीबत 

वहीं डीडीहाट में 24 मिमी और मुनस्यारी में चार मिमी बारिश हुई। बृहस्पतिवार की सुबह बारिश के कारण जिले की 14 सड़कें बंद थीं। इनमें से नाचनी-भैंसकोट, धुर्चू-कुन्कु, मेलडुंगरी और तवाघाट-घटियाबगड़ सड़क को शाम तीन बजे खोल दिया गया था। मलबा आने के कारण 10 सड़कें अब भी बंद हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में मौसम दिखा रहा अपने तल्ख तेवर,पर्वतीय जिलों में हल्की बारिश के आसार

🔹हजारो की आबादी परेशान 

बारिश से ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने वाली कालिका-खुमती, छिरकिला-जम्कू, मदकोट-तोमिक, डोर-सैणरांथी, बांसबगड़-कोटा पंद्रहपाला, कनालीछीना-सतगड़, तवाघाट-थानीधार, डीडीहाट-आदिचौरा-हुनेरा, दयोदार-बारमो और बार्डर सड़क सोबला-दर-तिदांग सड़क बंद हैं। इससे लगभग 15 हजार की आबादी परेशान है।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा कोण्डे की पहल पर ग्राम पंचायत धामस विकासखंड हवलबाग में दुग्ध संग्रह केंद्र किया गया स्थापित

🔹यह सड़क मार्ग बंद 

इधर चंपावत जिले की नौ ग्रामीण सड़कें दो दिन बाद भी नहीं खुल पाई हैं। टनकपुर-पिथौरागढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग बृहस्पतिवार को करीब 30 मिनट तक बंद रहा। स्वांला के पास मलबा आने से सुबह आठ बजे बंद सड़क 8:30 बजे खुली। जिले में दो दिन से धूनाघट-बरमतोड़ा, कामाज्यूला-भनार, उदयूनढुंगा-कोठेरा, घाट-नेत्र सलान, खेतीखान-गोसनी, धौन-बड़ौली, चिलनियां-पुनौली, सिमलखेत-सिब्यूली और फोर्ती सड़क बंद है।