दुःखद:भूलकर भी घर में अंगीठी जलाकर न सोएं, यहां जहरीली गैस से महिला की मौत, बेटे की हालत नाजुक

ख़बर शेयर करें -

कड़कड़ाती ठंड से राहत पाने के लिए अगर आप भी अंगीठी का इस्तेमाल कर रहे हैं तो अब सावधान हो जाइए। अंगीठी से निकलने वाला धुंआ आपके लिए जानलेवा भी साबित हो सकता है। दिल्ली से सटे नोएडा में ठंड से बचने के लिए बंद कमरे में अंगीठी जलाकर सोए मां-बेटे की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने महिला को मृत घोषित कर दिया, जबकि बच्चे की हालत अभी नाजुक बनी हुई है, जिसका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

🔹जाने मामला 

सूरजपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर पुष्पराज ने बताया कि बिरौड़ी गांव में रहने वाली गायत्री (35 वर्ष) नाम की महिला अपने 11 वर्षीय बेटे रोहित के साथ ठंड से बचने को शनिवार रात अपने घर में अंगीठी जलाकर कमरा बंद करके सो गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें शुक्रवार 1 मार्च 2024

🔹मां-बेटे को बेहोश 

उन्होंने बताया कि अंगीठी के धुएं से उनके कमरे में जहरीली गैस फैल गई और दोनों मां-बेटे बेहोश हो गए। अधिकारी ने बताया कि सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने वाला महिला का पति मनोज जब सुबह घर पहुंचा तो उसने देखा कि उसकी पत्नी और बच्चा दरवाजा नहीं खोल रहे हैं। उन्होंने बताया कि मनोज ने घर का दरवाजा तोड़कर घर में प्रवेश किया तो मां-बेटे को बेहोश पाया।

यह भी पढ़ें 👉  National News :लोकप्रिय 'मन की बात' कार्यक्रम 3 महीने तक नहीं करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,बताई वजह

अधिकारी ने बताया कि दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने गायत्री को मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया और मामले की जांच में जुटी है। 

बता दें कि, अंगीठी के जहरीले धुएं से हुई मौत का यह कोई पहला मामला नहीं है। राजधानी दिल्ली में भी रविवार को दो अलग-अलग स्थानों पर कथित रूप से अंगीठी के धुएं के कारण दम घुटने से एक ही परिवार के चार सदस्यों सहित छह लोगों की मौत हो गई थी। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *