Almora News:पाइप लाइन फटने से आधे शहर में पानी की आपूर्ति हुई बाधित, पानी के लिए तरसे लोग

ख़बर शेयर करें -

जैसे-जैसे तापमान गिरता है, पानी जमना शुरू हो जाता है और पानी के पाइप विशेष रूप से जमने की चपेट में आ जाते हैं। लेकिन जमी हुई पाइप एक असुविधा से कहीं अधिक है। पानी के पाइप जो जम जाते हैं, उनके फटने का खतरा होता है

🔹पानी के लिए तरसे लोग 

कड़ाके की ठंड में वर्षों पुरानी पेयजल लाइन जल संस्थान के साथ लोगों के लिए समस्या पैदा कर रही है। नगर में पुरानी लाइन फटने से आधे नगर की जलापूर्ति ठप रही। इससे 15 हजार की आबादी को पानी के लिए तरसना पड़ रहा है।पूरे दिन नलों में पानी नहीं टपका और लोगों को प्राकृतिक जल स्रोतों की दौड़ लगानी पड़ी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ऋषिकुल मैदान में आयोजित विकसित भारत संकल्प मेगा प्रदर्शनी कार्यक्रम को किया वर्चुअल संबोधित

🔹लाइन को दुरुस्त नहीं किया जा रहा

शुक्रवार सुबह पातालदेवी से नरसिंहबाड़ी जलाशय के लिए पेयजल आपूर्ति करने वाली पुरानी लाइन आर्मी भर्ती कार्यालय के पास फट गई। इससे दुगालखोला, खगमराकोट, पुलिस लाइन, नरसिंहबाड़ी सहित अन्य हिस्सों में जलापूर्ति ठप रही। लोग काफी देर तक नल से पानी टपकने का इंतजार करते रहे। घंटों बाद भी जब जलापूर्ति नहीं हुई तो लोगों को कड़ाके की ठंड के बीच प्राकृतिक जल स्रोतों की दौड़ लगानी पड़ी और पानी लाना पड़ा। तब जाकर पानी का प्रबंध हुआ। इस दौरान नौले-धारों में लोगों की भीड़ जुटी। उन्हें अपनी बारी के इंतजार में घंटों लाइन में लगना पड़ा। आए दिन पाइप फटने से लोगों में जल संस्थान के खिलाफ नाराजगी है। लोगों ने कहा कि पेयजल में करोड़ों रुपये खर्च हो रहे हैं लेकिन लाइन को दुरुस्त नहीं किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :जागेश्वर आए कोलकाता के श्रद्धालु की हुई मौत

🔹आज मिलेगा पानी

लाइन फटने की जानकारी मिलने के बाद जल संस्थान कर्मी मौके पर पहुंचे और लाइन ठीक करने में जुटे रहे। देर शाम तक भी लाइन ठीक नहीं हो सकी। ऐसे में लोगों को पानी के लिए इंतजार करना पड़ेगा। जल संस्थान के मुताबिक शनिवार को यानि आज पेयजल व्यवस्था सुचारू होगी।

लाइन फटने से कुछ क्षेत्रों में जलापूर्ति बाधित रही। लाइन की मरम्मत का काम किया जा रहा है। शनिवार से व्यवस्था पटरी पर लौटेगी-महेंद्र सिंह बिष्ट, अवर अभियंता, जल संस्थान, अल्मोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *