Uttrakhand News :प्रदेश में ऐसा पहली बार होगा,केवल किसी एक शहर से संचालित बसों का बढ़ाया जाएगा किराया,सवा दो गुना अधिक बढ़ गया बसों का शुल्क

ख़बर शेयर करें -

प्रदेश में ऐसा पहली बार होगा, जब केवल किसी एक शहर से संचालित बसों का किराया बढ़ाया जाएगा। मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) की ओर से देहरादून आइएसबीटी में बसों का प्रवेश-पार्किंग शुल्क सोमवार से बढ़ा दिया गया है।

इसमें उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों का शुल्क करीब सवा दो गुना अधिक बढ़ गया है, जबकि दूसरे राज्यों की बसों का शुल्क चार गुना से अधिक बढ़ा दिया गया है।

ऐसे में अब उत्तराखंड परिवहन निगम देहरादून से संचालित होने वाली अपनी बसों में किराया बढ़ाने की तैयारी कर रहा है। नया किराया ई-टिकट मशीनों में अपडेट किया जा रहा है। माना जा रहा है कि अगले दो-तीन दिन में नया किराया लागू हो जाएगा। इसमें प्रति यात्री टिकट में आठ से 10 रुपये तक की वृद्धि हो सकती है।

सोमवार से एमडीडीए ने दून आइएसबीटी से संचालित होने वाली बसों के प्रवेश व निकास शुल्क में भारी वृद्धि लागू कर दी है। एमडीडीए की ओर से जारी आदेश में उत्तराखंड परिवहन निगम की जिन बसों का शुल्क पहले 120 रुपये था, उसे बढ़ाकर 250 रुपये कर दिया गया है।

यही नहीं दूसरे राज्यों के परिवहन निगम की बसों का शुल्क 120 रुपये से बढ़ाकर 480 रुपये किया गया है। इस शुल्क में 18 प्रतिशत जीएसटी अलग से वसूला जा रहा। यह शुल्क आइएसबीटी के भीतर चार घंटे तक के लिए मान्य है व इसके बाद शुल्क की दरें और बढ़ जाएंगी। पहले यह माना जा रहा था कि शुल्क वृद्धि जून तक टल जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में तपन के बीच बारिश की संभावना,जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक ने इसके लिए एमडीडीए से अनुरोध भी किया था, लेकिन सोमवार से बढ़ा हुआ शुल्क वसूला जाने लगा। चालक-परिचालकों ने इसका विरोध भी किया, लेकिन एमडीडीए के कर्मचारियों ने स्पष्ट कर दिया कि वृद्धि के आदेश उच्च स्तर से आए हैं। बता दें कि देहरादून आइएसबीटी का संचालन बीते वर्ष ही अगस्त में एमडीडीए ने अपने हाथों में लिया था।

अभी तक समस्त परिवहन निगमों की बसों से चार घंटे तक के लिए 120 रुपये, जबकि चार घंटे से 24 घंटे तक की प्रवेश-पार्किंग शुल्क के तौर पर 240 रुपये लिए जा रहे थे। अब एमडीडीए ने यह शुल्क न केवल बढ़ाया है, बल्कि इस शुल्क पर 18 प्रतिशत जीएसटी अतिरिक्त भी लगा दिया है। अब तक बसों से शुल्क पर जीएसटी नहीं लिया जाता था। अब नई व्यवस्था के बाद उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों को पहले ट्रिप पर जीएसटी के साथ 295 रुपये और दूसरे ट्रिप पर 177 रुपये शुल्क देना पड़ रहा। तीसरे व चौथे ट्रिप पर 118 रुपये शुल्क देना होगा।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :जिले में एक माह तक विभिन्न जगहों पर लगाए जाएगें योग शिविर

💠उत्तराखंड की बसों के लिए एक जून से शुल्क बढ़ाने के आदेश

सोमवार रात आइएसबीटी के शुल्क वृद्धि की जानकारी मिलने पर एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी ने इसे 31 मई तक स्थगित रखने के आदेश दिए हैं। उपाध्यक्ष तिवारी ने बताया कि यात्रा व ग्रीष्मकालीन पर्यटन को देखते हुए उत्तराखंड परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक डा. आशीष श्रीवास्तव ने शुल्क स्थगित रखने के लिए आग्रह किया था।

ऐसे में केवल उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों का शुल्क 31 मई तक नहीं बढ़ाया जाएगा, लेकिन अन्य राज्यों की बसों से बढ़ा हुआ शुल्क ही लिया जाएगा। उत्तराखंड परिवहन निगम के लिए एक जून से शुल्क वृद्धि की जाएगी। आइएसबीटी पर तैनात अधिकारियों को उत्तराखंड की बसों से पुराना शुल्क लेने को कहा गया है।

💠देर रात तक वसूला गया बढ़ा हुआ शुल्क

एमडीडीए उपाध्यक्ष की ओर से भले ही उत्तराखंड की बसों के लिए शुल्क वृद्धि स्थगित करने को कहा गया हो, लेकिन आइएसबीटी पर तैनात एमडीडीए के अधिकारी सोमवार देर रात तक बढ़ा हुआ शुल्क ही वसूलते रहे। इसे लेकर परिवहन निगम कर्मचारियों में ऊहापोह की स्थिति बनी रही। वहीं, परिवहन निगम प्रबंधन का कहना है कि अगर शुल्क वृद्धि वापस नहीं हुई तो उन्हें मजबूरन देहरादून से संचालित बसों का किराया बढ़ाना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *