Uttrakhand News :उत्तराखंड में चारधाम यात्रा में पंजीकरण अनिवार्य, सरकार द्वारा जारी किया गया रजिस्ट्रेशन ऐप

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड राज्य में चारधाम यात्रा पर जाने वाले उत्तर प्रदेश के सभी धार्मिक यात्री अब बिना पंजीकरण के तीर्थ यात्रा नहीं कर सकेंगे। उत्तराखंड में श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या के चलते किसी अप्रिय घटना को रोकने और चारधाम यात्रा पर आए भक्तों की सुरक्षा की दृष्टि से उत्तराखंड सरकार ने यह फैसला लिया है।

इस समय यूपी के स्कूलों में भीषण गर्मी के चलते अवकाश घोषित कर दिया गया है। बच्चों की छुट्टियों का लुत्‍फ और साथ में धार्मिक यात्रा करने का यह सुनहरा अवसर है, जिसके चलते मैदानी क्षेत्र से उत्तराखंड चारधाम यात्रा के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उत्तकाशी की तरफ कूच कर रहे हैं। ऐसे में उत्तराखंड सरकार ने यूपी से अपील करते हुए कहा है कि सभी तीर्थयात्रियों को पंजीकरण अनिवार्य रूप से कराना होगा। इसलिए उत्तर प्रदेश गृह विभाग द्वारा चारधाम यात्रा पर जाने के इच्छुक श्रद्धालुओं को समय रहते रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य हो गया है, ताकि उनकी धार्मिक तीर्थ यात्रा नियत तिथि पर बिना दिक्कत-परेशानी के हो सके।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :SSP अल्मोड़ा द्वारा संघ लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा 2024 केंद्रों पर पुलिस बल को रखा गया है अलर्ट मोड पर

उत्तराखंड सरकार ने उत्तर प्रदेश से अपील करते हुए कहा है कि चार धाम यात्रा (गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ एवं केदारनाथ) पर जा रहे अथवा जाने के इच्छुक यूपी के तीर्थयात्री सबसे पहले यह निश्चित कर लें कि उन्हें किस दिन यात्रा के लिए आना है, जिसके बाद वह अपना रजिस्ट्रेशन होने के बाद तिथि पर दर्शन करें।

उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता ने इसके लिए से चारधाम यात्रा 2024 के लिए रजिस्ट्रेशन साइट भी दी है जो इस प्रकार है- उत्तराखंड सरकार द्वारा https://registrationandtouristcare.uk.gov.in/signin.php अथवा मोबाइल ऐप Toursit Care Uttarakhand पर अनिवार्य पंजीयन की व्यवस्था लागू की गई है। इसलिए चारधाम यात्रा 2024 के लिए अनिवार्य पंजीकरण प्रक्रिया पूरी नहीं करने वाले तीर्थ यात्री/श्रद्धालु चार धामों की यात्रा न करें।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :यहां नगर के सिकुड़ा बैंड के पास हुआ सड़क हादसा,यात्रियों से भरी केमू बस और कार की हुई जोरदार टक्कर

ऐसे यात्री, जिनका पंजीयन नहीं है, उन्हें निर्धारित चेक प्वांइन्ट्स पर रोक दिया जाएगा और वे उसके आगे नहीं जा सकेंगे। प्रदेश के समस्त टूर ऑपरेटर तथा ट्रेवल एजेंट भी यह सुनिश्चित कराएं कि उनके ग्राहकों द्वारा यात्रा प्रारंभ करने से पहले आवश्यक पंजीकरण करा लिया गया है। यूपी के सभी श्रद्धालु यात्रा संबंधी दिशा-निर्देशों की पूरी जानकारी ऐप से ले लें, ताकि उनकी धार्मिक यात्रा सहजता और सरलता के साथ पूर्ण कर सकें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *