पेंशनर्स की समस्याओं का जल्द हो समाधान

ख़बर शेयर करें -

 

 

 

हल्द्वानी – उत्तराखंड गवर्नमेंट पेंशनर्स वेल्फेयर आर्गनाइजेशन की बैठक में भर्तियों में हुई धांधली को लेकर कार्मिक एकता मंच द्वारा छेड़े गये जनजागरण का समर्थन किया और बेरोजगारों पर हुए लाठीचार्ज की निन्दा की । बैठक में वक्ताओं ने प्रशासन से पेंशनर्स आर्गनाइजेशन हेतु भवन उपलब्ध कराने की पुरजोर मांग की गई । इस अवसर पर आर्गनाइजेशन से जुडने वाले नये सदस्यों का स्वागत किया गया ।

 

 

 

 

 

यहां अरुणोदय धर्मशाला में आर्गनाइजेशन के अध्यक्ष लीलाधर पाण्डे की अध्यक्षता तथा महासचिव विजय तिवारी के संचालन में हुई बैठक में पेंशनर्स की समस्याओं के समाधान पर विस्तृत चर्चा हुई । वक्ताओं ने पेंशनर्स की नियमित होने वाली बैठकों व अन्य रचनात्मक क्रियाकलापों के लिए प्रशासन से भवन उपलब्ध कराने की मांग की गई । तय हुआ कि इसके लिए एक शिष्टमण्डल शीघ्र ही जिलाधिकारी से मिलेगा । वक्ताओं ने इस बात पर भी बल दिया कि वरिष्ठ नागरिक होने के नाते हमें जन सरोकार से जुडे मुद्दो के समाधान की दिशा में भी पहल करनी चाहिए ।

यह भी पढ़ें 👉  लमगड़ा में 23 से 30 अप्रैल तक श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का होगा आयोजन , शुरू के तीन दिन वृन्दावन के कलाकार देंगे मनमोहक प्रस्तुति

 

 

 

 

 

 

इस अवसर पर उत्तराखण्ड कार्मिक एकता मंच के संस्थापक अध्यक्ष रमेश चन्द्र पाण्डे ने भर्तियों में हुई धांधली से नौनिहालों के भविष्य को लेकर चिन्ता जताते हुए कहा कि भर्ती हेतु परीक्षा का आयोजन गोपनीयता व पारदर्शिता के साथ कराने के लिए संवैधानिक व्यवस्था में स्पष्ट रुप से दायित्व निर्धारित हैं । दायित्वों के निर्वहन में लापरवाही के कारण ही लोक सेवा आयोग में पेपर लीक जैसी आपराधिक घटना घटित हुई । ऐसे में सबसे पहले जवाबदेही तय होनी जरुरी है ।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breking--एई/ जेई पेपर लीक मामले का इनामी मास्टरमाइंड एसआईटी की गिरफ्त में

 

 

 

 

 

 

 

उन्होंने सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा कि 12 फरवरी को दोबारा होने वाली पटवारी की परीक्षा के प्रश्न पहले से ही लीक हैं । इस आरोप के पक्ष में तर्क देते हुए उन्होनें कहा कि पूर्व में 8 जनवरी को हुई परीक्षा के समय जो क्वैश्चन बैंक लीक हुआ था इस परीक्षा हेतु उसी में से प्रश्न लिये जाने हैं ।

 

 

 

 

 

 

बैठक में इस स्थिति पर गम्भीर चिन्ता व्यक्त की गई ।
बैठक को गंगा सिंह चम्याल, पूरन सिंह जीना, लक्ष्मण सिंह गौनियां, राजेन्द्र बोरा , राजेन्द्र पाण्डेय,नवीन पन्त, भुवन चन्द्र पाण्डे, विजय कुमारी मुक्ता, बी डी जोशी, बी के मिश्रा, भवानन्द सिंह कैड़ा, जे एस खोलिया, खीरा सिंह, एम एस रावत आदि ने सम्बोधित किया ।

 

Ad
Ad Ad Ad
Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments