Almora News:जिला अस्पताल में खून नहीं मिलने पर कर्मचारी और परिवारजनो के बीच जमकर हुआ हंगमा

ख़बर शेयर करें -

जिला अस्पताल में खून नहीं मिलने पर मरीज के स्वजनों ने जमकर हंगामा काटा। इस दौरान ब्लड बैंक कर्मचारी से वाद-विवाद और हाथापाई हो गई।मामला बढ़ते देख मौके पर पहुंची पुलिस ने हंगामा को शांत कराया। मरीज के स्वजन बिना खून लिए वापस चले गए। पुलिस जांच पर जुटी हुई है।

बुधवार को सुबह एक महिला गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज पहुंची। देर शाम हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने मरीज के स्वजनों से कहा कि ब्लड की जरूरत है। महिला का ब्लड ग्रुप ए पॉजिटिव था। मेडिकल कॉलेज में ब्लड बैंक नहीं होने पर तीमारदार को खून के लिए जिला अस्पताल भेजा।

🔹नहीं मिला खून

मरीज के स्वजन पांच किमी दूर खून के लिए जिला अस्पताल पहुंचे। जब उन्होंने जिला अस्पताल के कर्मचारियों से ए पॉजिटिव ब्लड ग्रुप की डिमांड की तो उन्होंने मना कर दिया। उन्होंने कहा कि इस ग्रुप का रक्त अस्पताल में नहीं है। टेक्नीशियनों ने कहा कि आप इस ब्लड ग्रुप का कोई आदमी ले आओ तो आपको खून मिल जाएगा। ब्लड बैंक में खून नहीं मिलने से मरीज के स्वजनों ने आपा खो दिया।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :892 वन आरक्षी और 104 सहायक लेखाकारों को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदान किये नियुक्ति पत्र

🔹ब्लड के लिए हो गई हाथापाई

ब्लड नहीं होने पर वाद-विवाद शुरू हो गया। वाद-विवाद इतना बड़ा की दोनों मौके पर हाथापाई भी हो गई। इस दौरान मामला बढ़ता देख अस्पताल के कुछ लोगों ने पुलिस को फोन कर दिया।मौके पर पहुंची पुलिस ने वह मुश्किल मामला शांत कराया। मरीज के स्वजन बिना ए पॉजिटिव ब्लड ग्रुप का रक्त लिए ही वापस लौट गए। इधर ब्लड बैंक के टेक्नीशियनों ने कहा कि ऐसी स्थिति में कार्य नहीं हो पाएगा। सुरक्षा की व्यवस्था होनी चाहिए।

🔹अस्पताल में खून ना होना गंभीर मामला

जिला अस्पताल में आए दिन रक्तदान शिविर होता है। उसके बाद भी अस्पताल में खून नहीं होने गंभीर विषय है। जबकि बैंक में हर समय प्रत्येक ब्लड ग्रुप का रक्त उपलब्ध होना चाहिए। आपात स्थिति के लिए ही ब्लड बैंक खोले जाते है। अब अस्पताल की कार्य प्रणाली पर सवाल उठने लगे है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :उत्तराखंड के इस जिले में किसानों ने विभिन्न मांगों के समर्थन में दिया धरना

🔹नहीं है इस टाइप के ब्लड

जिला अस्पताल के ब्लड बैंक की हालत बेहद खराब है । यहां ए पॉजिटिव के साथ ही ओ पॉजिटिव और एबी पॉजिटिव जैसे ब्लड ग्रुप का रक्त है नहीं है। अगर आपातकाल के समय कोई मरीज आ जाए तो खून मिलना मुश्किल ही है। ऐसे हालात में ब्लड बैंक की व्यवस्था का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है मामला संज्ञान में आया है।

🔹अधिकारियों ने कही ये बात

अस्पताल में मारपीट के बाद पुलिस बुलाई थी। ब्लड बैंक के तकनीकी कमर्चारियों ने कहा है ऐसे हालात में काम नहीं होगा। कल बातचीत कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। डॉ अखिलेश। – प्रभारी, पीएमएस जिला अल्मोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *