Almora News :विकासखंड हवालबाग के पांच विद्यालय प्रधानाध्यापक विहीन, प्रभारी के भरोसे हो रहे संचालित

ख़बर शेयर करें -

जिला मुख्यालय के नजदीकी विकासखंड हवालबाग के विद्यालय शिक्षा व्यवस्था की बेहतरी के दावों को हवाई साबित कर रहे हैं। विकासखंड में पांच हाईस्कूल प्रधानाध्यापक विहीन हैं जो प्रभारी के भरोसे संचालित हो रहे हैं।

शिक्षकों को प्रधानाध्यापक का अतिरिक्त प्रभार देने से उनके लिए कक्षा में समय दे पाना असंभव हो रहा है। इसका सीधा असर छात्र-छात्राओं की पढ़ाई पर पड़ रहा है।

हवालबाग ब्लाॅक के बल्टा, चौराकलेत, रौनडाल, जूड़कफून, मैगती धनलेख पांच हाईस्कूल चार साल से प्रधानाध्यापक विहीन हैं जिससे छात्र-छात्राओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। व्यवस्था के तहत शिक्षकों को प्रधानाचार्य का दायित्व दिए जाने से उनके लिए अपने विषय पढ़ाना नामुमकिन साबित हो रहा है। पढ़ाई छोड़ विद्यालयी कार्यों के लिए कार्यालयों के चक्कर काटना उनकी मजबूरी बन चुका है। ऐसे में ये शिक्षक अपने विषय का ज्ञान विद्यार्थियों को नहीं दे पा रहे हैं। ऐसे में विद्यालय में अध्ययनरत 500 से अधिक विद्यार्थी परेशान और मायूस हैं। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :10 मई से शुरू होने वाली केदारनाथ यात्रा में एक दिन में 4,000 घोड़ा-खच्चरों का किया जाएगा संचालन,हेलिकाॅप्टर सेवा का संचालन करने वाली कंपनियों के लिए इस बार अलग से एसओपी की जाएगी तैयार

💠प्रभारियों के पास नहीं है आहरण वितरण का अधिकार

अल्मोड़ा। प्रभारी प्रधानाध्यापक के पास आहरण वितरण का अधिकार नहीं है। ऐसे में विद्यालय में तैनात शिक्षकों और कार्मिकों को समय पर वेतन मिलना भी मुश्किल हो रहा है। उनका वेतन निकालने के लिए प्रभारी प्रधानाध्यापक अन्य अधिकारियों के कार्यालयों के चक्कर काट रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :यहा देर रात शॉर्ट सर्किट से घर में लगी आग, सुरक्षित बचे लोग आग से लाखों रुपए का नुकसान

प्रधानाध्यापकों के रिक्त पदों की सूचना निदेशालय को दी गई है। रिक्त पदों के सापेक्ष विद्यालय के शिक्षक को प्रभारी प्रधानाध्यापक का दायित्व सौंपा गया है।

अंबा दत्त बलोदी, सीईओ, अल्मोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *