Almora News:नौकरी के लिए फर्जी प्रमाणपत्र देने पर आरोपी महिला के खिलाफ मुकदमा दर्ज

ख़बर शेयर करें -

जिले में फर्जी प्रमाणपत्र के जरिए सरकारी नौकरी हासिल करने का एक और मामला सामने आया है। यह मामला भी डाक विभाग से जुड़ा है। जिले में टिम्टा शाखा की महिला डाकपाल की डिग्री भौतिक सत्यापन में फर्जी पाई गई है।डाक विभाग ने आरोपी डाकपाल को बर्खास्त कर उसके खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है।

डाक अधीक्षक अल्मोड़ा राजेश कुमार बिनवाल ने पुलिस को मामले में तहरीर सौंपी है। आरोप है कि मोनू पुत्री राजबीर निवासी रामपुर जनौला गुरुग्राम हरियाणा ने भारत सरकार संचार मंत्रालय की विज्ञप्ति पर ऑनलाइन भर्ती आवेदन किया था। चयन के बाद आरोपी महिला ने टिम्टा शाखा में डाकपाल पद पर कार्यभार संभाला। आरोपी ने भर्ती के लिए राज्य स्कूल परीक्षा बोर्ड (सेकेंडरी) और उच्चतर माध्यमिक परीक्षा बोर्ड चेन्नई के अंक पत्र प्रस्तुत किए थे।

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें शनिवार 8 जून 2024

नियोजन के बाद आरोपी के अंकपत्रों की जांच करवाई गई। भौतिक सत्यापन में आरोपी महिला के प्रमाणपत्र फर्जी पाए गए हैं। डाक विभाग ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को बर्खास्त कर दिया है। वहीं मामले में कोतवाली में तहरीर सौंपी है। प्रभारी कोतवाल सतीश चंद्र कापड़ी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है।

🔹15 दिन में फर्जी दस्तावेज की तीसरी घटना

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :रामगंगा नदी डूबने से पति-पत्नी की मौत,क्षेत्र व गांव में पसरा सन्नाटा

फर्जी डिग्री से डाकपाल बनने का यह पहला मामला नहीं है। बीते 15 दिन में यह तीसरा मामला सामने आया है। 16 दिसम्बर को फर्जी प्रमाणपत्र के आधार पर नौकरी हासिल करने के आरोप में जागेश्वर के पनुवानौला उप डाकघर और 19 जनवरी को स्यालीधार में तैनात रहे डाकपाल के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था।

जांच में टिम्टा शाखा डाकघर की डाकपाल के प्रमाणपत्र फर्जी पाए गए हैं। विभाग ने कार्रवाई करते हुए आरोपी को बर्खास्त कर दिया है। विभाग की ओर से कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया गया है-आरके बिनवाल, डाक अधीक्षक अल्मोड़ा मंडल।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *