Almora News:मेडिकल कॉलेज में नहीं मिल पा रहा आयुष्मान भारत योजना का लाभ, बाहर से महंगे टेस्ट कराने को मजबूर हो रहे मरीज

ख़बर शेयर करें -

 बेहतर उपचार की उम्मीद में मेडिकल कॉलेज में मरीजों को आयुष्मान योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। यहां पहुंचने वाले मरीजों को एक्सरे, ईसीजी समेत अन्य जांचों के लिए धन खर्च करना पड़ रहा है, इससे उनकी दिक्कत बढ़ गई है।

🔹अन्य उपचार के लिए भी फीस चुकानी पड़ रही

सरकारी अस्पतालों के साथ ही कई निजी अस्पतालों में आयुष्मान योजना के तहत मरीजों का निशुल्क उपचार होता है। लेकिन अल्मोड़ा के मेडिकल कॉलेज में यह योजना मरीजों के काम नहीं आ रही है और उन्हें जांच सहित अन्य उपचार के लिए भी फीस चुकानी पड़ रही है।

🔹दुगुनी फीस में जाँच हों रही 

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :महामहिम राज्यपाल उत्तराखंड लेफ्टिनेंट जनरल (से. नि.) गुरमीत सिंह ने आज काकड़ीघाट स्थित कार्कटेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना कर देश एवं प्रदेश वासियों की सुख समृद्धि की कामना

मेडिकल कॉलेज में रोजाना करीब 100 से अधिक मरीज एक्सरे और ईसीजी जांच के लिए पहुंचते हैं। इन मरीजों से आयुष्मान कार्ड होने के बाद भी एक्सरे के लिए 200 से 568 रुपये तक और ईसीजी के लिए 150 रुपये तक वसूला जा रहा है। 

🔹केस एक

आयुष्मान योजना के तहत सरकारी और कई निजी अस्पताल में निशुल्क उपचार की सुविधा मिलती है। लेकिन मेडिकल कॉलेज में कार्ड होने के बावजूद ईसीजी के लिए 144 और एक्सरे जांच के लिए 284 रुपये की पर्ची कटवानी पड़ी। – मनीष आर्य, धारानौला। 

🔹केस – दो 

मेडिकल कॉलेज में इलाज कराने आया था। ईसीजी और एक्सरे की जांच के लिए उससे 428 रुपये शुल्क लिया गया। अस्पताल कर्मियों ने बताया कि भर्ती होने पर ही आयुष्मान कार्ड से निशुल्क उपचार की सुविधा मिलती है। – विनोद कुमार, खत्याडी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :देश का नामी औद्योगिक घराना टाटा समूह उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले में बनाने जा रहा इलेक्ट्रॉनिक सिटी,हजारो युवाओ को मिलेगा रोजगार

आयुष्मान कार्ड धारक मरीजों को अस्पताल में भर्ती होने के बाद हीनिशुल्क उपचार की सुविधा का लाभ मिलता है। एक्सरे समेत अन्य जांचों के लिए कार्डधारक मरीजों को निशुल्क सुविधा नहीं दी जाती है। – प्रो. सीपी भैसोड़ा, प्राचार्य, मेडिकल कॉलेज, अल्मोड़ा।

स्वास्थ्य विभाग अपने अस्पतालों में हर कार्डधारक मरीज को निशुल्क उपचार की सुविधा दे रहा है। आयुष्मान योजना के तहत मरीज को निशुल्क उपचार की सुविधा मिलनी चाहिए। – डॉ. आरसी पंत, सीएमओ, अल्मोड़ा।