Weather Update :उत्तराखंड में पहाड़ से मैदान तक मौसम मेहरबान,आसमान से झमाझम वर्षा के साथ बरसी राहत,जानिए आज का मौसम

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में पहाड़ से मैदान तक बुधवार को मौसम मेहरबान हो गया और आसमान से झमाझम वर्षा के साथ राहत बरसी। करीब 18 दिन के सूखे के बाद ज्यादातर क्षेत्रों में दोपहर बाद तेज हवाओं के साथ हुई वर्षा से 10 से 15 डिग्री से.

तक की तापमान में गिरावट दर्ज की गई।

देहरादून में ही एक घंटे की वर्षा से तापमान करीब 15 डिग्री सेल्सियस लुढ़क गया। फिलहाल उत्तराखंड को भीषण तपिश और लू से राहत मिल गई है। मौसम विभाग के अनुसार, आज भी प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ तीव्र बौछार और अंधड़ चलने के आसार हैं।

वहीं, अंधड़ के कारण हवाई सेवाओं पर भी असर पड़ा। चारधाम यात्रा से देहरादून लौट रहे चार चार्टर्ड हेलीकॉप्टर की एम्स ऋषिकेश में इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। अंधड़ के कारण पेड़ व विद्युत पोल टूटने से कई जगह सड़क मार्ग भी बाधित हुए।

💠उत्तराखंड के मैदानी क्षेत्रों में 40 के पार चल रहा था पारा

पिछले कई दिनों से दून समेत पूरे प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस से पार, जबकि पर्वतीय क्षेत्रों में 35 डिग्री से. तक चल रहा था। बुधवार दोपहर बाद ज्यादातर क्षेत्रों में झमाझम वर्षा हुई। जिससे करीब माहभर से बेहाल कर रही भीषण गर्मी से राहत महसूस हुई। खासकर देहरादून में वर्षा के कारण पारे में करीब एक घंटे के भीतर 15 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :अल्मोड़ा पुलिस के थाना चौखुटिया टीम ने पेश की मानवता की मिशाल,बेहोशी की हालत में मिला युवक अल्मोड़ा पुलिस के थाना चौखुटिया टीम ने अपने निजी वाहन से पहुंचाया अस्पताल

उधर, चारधाम समेत कुमाऊं के ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी मौसम का मिजाज बदला हुआ है। मसूरी और नैनीताल में लंबे समय बाद वर्षा हुई।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, आज देहरादून, पौड़ी, हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल व चंपावत में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने, वर्षा के तीव्र दौर होने और अंधड़ चलने की संभावना है। इसके अलावा उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में वर्षा व ओलावृष्टि हो सकती है।

💠लगातार 11 दिन से 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक था तापमान

उत्तराखंड लगभग एक माह से भीषण गर्मी की मार झेल रहा है। इस बार मई के बाद जून में भी मैदानी क्षेत्रों में तापमान ने सारे रिकार्ड ध्वस्त कर दिए। जून में एक सप्ताह से अधिक समय से लू के थपेड़ों से आमजन बेहाल थे। लगातार 11 दिनों से मैदानी क्षेत्रों में तापमान 40 से 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया जा रहा था, जो कि सामान्य से करीब नौ डिग्री सेल्सियस अधिक है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :भारत-नेपाल सीमा पर स्थित धारचूला में फटा बादल,कई रास्ते हुए बंद

दून में भी इस बार 122 वर्षों में जून सबसे गर्म रहा। हालांकि, बुधवार को हुई वर्षा ने कुछ राहत दी है। अगले कुछ दिन अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से कम रहने के आसार हैं।

💠दून में एक जून के बाद नहीं बरसे थे मेघ

दून में एक जून की शाम को तीव्र बौछारें पड़ीं थीं। हालांकि, बौछारों का सिलसिला कुछ देर ही चला, जिससे गर्मी से खास राहत नहीं मिली थी। अब तक पूरे जून में जिले में 17 मिमी वर्षा दर्ज की गई थी, जो कि सामान्य से 82 प्रतिशत कम है। बुधवार को दोपहर बाद तीन घंटे के भीतर दून में 10 मिमी के करीब वर्षा दर्ज की गई।

💠प्रमुख नगरों का तापमान

शहर अधिकतम न्यूनतम

ऊधम सिंह नगर 41.0 27.2

देहरादून 40.7 28.0

मुक्तेश्वर 31.2 17.2

नैनीताल 30.2 17.5

मसूरी 25.7 14.8

नई टिहरी 29.6 19.0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *