Uttrakhand News :26 फरवरी से शुरू होगा और 1 मार्च तक चलेगा उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड विधानसभा का बजट सत्र 26 फरवरी से शुरू होगा और 1 मार्च तक चलेगा। सत्र के पहले दिन 26 फरवरी को राज्यपाल का अभिभाषण होगा। इसके बाद कार्यमंत्रणा की बैठक में आगे के कार्ययोजना पर चर्चा की जाएगी।

धामी सरकार देहरादून में बजट सत्र आयोजित कर रही है। जो कि 26 फरवरी से शुरू होगा। बजट पेश करने की तारीख अभी फाइनल नहीं हुई है। बजट सत्र एक मार्च तक चलेगा। कल 21 फरवरी को इससे पहले धामी मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई गई है।

माना जा रहा है कि इसमें बजट को लेकर चर्चा होगी। साथ ही कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लग सकती है। उम्मीद जताई जा रही है कि धामी सरकार 27 या 28 मार्च को बजट पेश कर सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :चालक और परिचालकों की कमी से जूझ रहे परिवहन निगम,चार रूट पर बस का संचालन रहा ठप

26 फरवरी से शुरू हो रहे बजट सत्र के पहले दिन राज्यपाल का अभिभाषण होगा। इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है। विधानसभा की ओर से सभी विधायकों को पत्र जारी कर सदन में उठाए जाने वाले लोक महत्व की सूचनाएं मांगी गई है। विधानसभा सचिवालय ने सभी विधायकों से नियम 53, 58, 299 और 300 के तहत उठाए जाने वाले मुद्दों की सूचना मांगी है।

अब तक विधानसभा सचिवालय को लगभग 300 प्रश्न प्राप्त हो चुके हैं। वित्त एवं संसदीय कार्यमंत्री प्रेमचंद अग्रवाल का कहना है कि उत्तराखंड का यह बजट जेंडर बजट होगा जिससे राज्य में विकास की गति और तेज होगी। धामी मंत्रिमंडल की बैठक में बजट सत्र का आयोजन देहरादून में करने का निर्णय लिया गया था।

अग्रवाल ने बताया कि बजट सत्र में 26 फरवरी को पहले दिन राज्यपाल का अभिभाषण होगा। इसके पश्चात विधानसभा की कार्यमंत्रणा समिति की बैठक होगी, जिसमें सत्र की रूपरेखा तय की जाएगी। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड का यह बजट जेंडर बजट होगा।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :परचून की दुकान में अवैध रुप से बेच व पिला रहा था शराब,भतरौजखान पुलिस ने अवैध शराब सहित दुकानदार को किया गिरफ्तार

सभी वर्गों को ध्यान में रखते हुए बजट तैयार किया जा रहा है। इसमें राज्य के हितधारकों के साथ संवाद और विभिन्न माध्यमों से प्राप्त हो रहे सुझावों का समावेश होगा। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए ये बजट खासा अहम होगा।

साथ ही इससे पहले धामी सरकार ने जिस तरह यूसीसी और राज्य आंदोलनकारियों के लिए क्षैतिज आरक्षण के प्रस्ताव पर मुहर लगाई। उसके बाद से विपक्ष अब महंगाई समेत दूसरे प्रदेश के अहम मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *