Uttrakhand News :आप की अदालत’ में रजत शर्मा के तीखे सवालो के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दिए बखूबी जवाब, जानिए किन मुद्दों पर पूछे गए सवाल

ख़बर शेयर करें -

इंडिया टीवी के लोकप्रिय कार्यक्रम ‘आप की अदालत’ में इस बार के मेहमान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हैं। इंडिया टीवी के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ रजत शर्मा ने उनसे कई मुद्दों पर सवाल पूछे, जिसका धामी ने खुलकर जवाब दिया।

इस दौरान धामी ने लव जिहाद पर भी बात की।

💠लव जिहाद पर क्या बोले धामी?

सीएम धामी ने लव जिहाद को लेकर कहा, ‘लव जिहाद जैसी चीजें बहुत ही खराब हैं। ऐसी घटनाएं उत्तराखंड में बिल्कुल भी स्वीकार्य नहीं हैं। देवभूमि में इसके लिए कोई स्थान नहीं है। देवभूमि पवित्र रहनी चाहिए।’

कांग्रेस नेता शशि थरूर की इस टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कि उत्तराखंड की सरकार लोगों के ‘बेडरूम मे झांककर’ उनकी प्राइवेसी पर हमला कर रही है और ‘नैनी स्टेट’ की तरह काम कर रही है, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘जो भी प्रावधान किया गया है वह शशि थरूर जी की सुविधा के लिए नहीं किया गया है। ऐसा हमारे बेटे-बेटियों की सुरक्षा के लिए किया गया है ताकि उनके माता-पिता जान सकें कि उनके बच्चे कैसे रहते हैं। आपने देखा कि गोवा में कैसे लाश के टुकड़े सूटकेस में मिले। लिव-इन के दौरान जन्मे बच्चों की देखभाल नहीं हो पाती, उन्हें संपत्ति में कोई हिस्सा नहीं मिलता। रजिस्ट्रेशन का प्रावधान हमने सुरक्षा के लिए किया है।’

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :कुमाऊं कमिश्नर और वरिष्ठ आईएएस अधिकारी दीपक रावत ने मतदान के लिए गीत सुन ओ आमा, बूबू, मतदान करी आला गाकर आम लोगों को मतदान के प्रति किया जागरूक

धामी ने कहा, ‘हमारा ध्येय किसी को परेशान करना नहीं, लेकिन कम से कम सुरक्षा तो हो बच्चों की। आज मोहब्बत है, 5-10 साल के बाद मोहब्बत गड़बड़ा जाती है। उसके बाद वे एक दूसरे पर इल्जाम लगाना शुरू कर देते हैं।’

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :यहा पुलिस ने परचून की दुकान में शराब बेच रहे दुकानदार को 04 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब के साथ किया गिरफ्तार

जब रजत शर्मा ने पूछा कि लिव-इन जोड़ों के लिए अलग होने पर पुलिस को सूचित करने का प्रावधान क्यों किया गया है, तो पुष्कर सिंह धामी ने जवाब दिया: ‘नहीं, उन्हें बेवफाई का रजिस्ट्रेशन नहीं करवाना होगा। उन्हें केवल सूचना देनी होगी कि हम साथ नहीं रहते हैं। यह कानून किसी को टारगेट करने के लिए नहीं बनाया गया है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *