Uttrakhand News :बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए सभी शैक्षिक संस्थानों, कोचिंग संस्थानों की होगी निगरानी: गीता खन्ना

ख़बर शेयर करें -

जागरूकता से बाल अधिकारों का संरक्षण होगा। बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए सभी शैक्षिक संस्थानों खासकर कोचिंग संस्थानों की निगरानी होगी। कोचिंग संस्थानों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का उत्पीड़न होता है।

ऐसे में इनकी निगरानी जरूरी हो गई है, यह बात कही बाल अधिकार संरक्षण कार्यशाला में शामिल होने पहुंची उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष गीता खन्ना ने।

मंगलवार को नगर के एक निजी स्कूल में उत्तराखंड बाल संरक्षण आयोग की अध्यक्ष गीता खन्ना की अध्यक्षता में कार्यशाला हुई। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को सामाजिक न्याय और बच्चों के प्रति उनके अधिकारों के लिए जागरूक करने की जरूरत है। इसके लिए अभिभावकों, जिला प्रशासन, न्याय विभाग, राजनैतिक स्तर पर बाल अधिकारों की चर्चा होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बाल संरक्षण आयोग प्रदेश के हर जिले में इस तरह की कार्यशाला आयोजित कर रहा है। आयोग की तरफ से बाल विकास सभा का गठन किया गया है जो विद्यालयों आंगनबाड़ी केंद्रों में जाकर बच्चों के बीच संवाद स्थापित कर रहा है। बच्चों की समस्या को जानना और उनका समाधान गंभीरता से किया जा रहा है। कोचिंग संस्थानों पर ध्यान दिया जा रहा है। इस मौके पर सीओ विमल प्रसाद ने विद्यार्थियों को सड़क सुरक्षा की जानकारी दी। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand Breaking :यहा अनियंत्रित होकर लगभग 800 मीटर गहरी खाई में गिर कार, छह लोगों की मौके पर ही मौत

इस दौरान बाल आयोग के सदस्य विनोद कपरवान, सुमन राय, अजय वर्मा, रेखा रौतेला, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश बहुगुणा सहित कई लोग मौजूद रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *