Uttrakhand News :आयुष्मान कार्डधारकों के लिए कैंसर अस्पताल में 25 प्रतिशत बेड रहेंगे आरक्षित, मोड पर किया जाएगा संचालित

ख़बर शेयर करें -

सुपर स्पेशियलिटी कैंसर अस्पताल हर्रावाला और मातृ-शिशु अस्पताल हरिद्वार को पब्लिक प्राइवेट पाटर्नरशिप (पीपीपी) मोड पर संचालित किया जाएगा। एक साल के भीतर कैंसर अस्पताल का संचालन शुरू होगा, जिसमें 25 प्रतिशत बेड आयुष्मान कार्डधारकों के लिए आरक्षित रहेंगे।

मुख्य सचिव राधा रतूड़ी की अध्यक्षता में हुई व्यय वित्त समिति की बैठक में इसकी मंजूरी दी गई। राजकीय मेडिकल कॉलेज देहरादून में फैकल्टी के लिए 72 आवास और यूजी छात्र-छात्राओं के लिए 300 बेड का हॉस्टल बनाया जाएगा। मंगलवार को सचिवालय में व्यय वित्त समिति की बैठक में 300 बेड के कैंसर अस्पताल हर्रावाला और 200 बेड के मातृ-शिशु अस्पताल हरिद्वार को पीपीपी मोड पर चलाने की मंजूरी मिल गई है।

यह भी पढ़ें 👉  Haldwani News :योगी ने पहली बार उत्तराखंड में चुनावी जनसभा को किया संबोधित,जो राम को लाए हैं', उन्हें पुन: लाने का संकल्प ले लिया:योगी आदित्यनाथ

बताया, जल्द ही स्वास्थ्य विभाग टेंडर की प्रक्रिया शुरू करेगा। बैठक में मुख्य सचिव ने कैंसर अस्पताल एक साल के भीतर शुरू करने के निर्देश दिए। कहा, अस्पताल में कैंसर के इलाज में इस्तेमाल होने वाले सभी उपकरणों, सुविधाएं तथा मानव संसाधन समेत अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। अस्पताल में 25 प्रतिशत बेड आयुष्मान कार्डधारकों के लिए आरक्षित रहेंगे।

💠300 बेड का हॉस्टल बनाने की मंजूरी

बैठक में राजकीय दून मेडिकल कॉलेज पटेलनगर में फैकल्टी स्टाफ के 72 आवास और यूजी छात्र-छात्राओं के लिए 300 बेड का हॉस्टल बनाने की मंजूरी दी गई। मुख्य सचिव ने दोनों भवनों को ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए। भवन का निर्माण कार्यदायी संस्था ब्रिज एंड रूफ के माध्यम से किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :कोटद्वार पहुंची सीबीआई की वन कर्मियों से पूछताछ,मनी लांड्रिंग को लेकर भी की जा रही है जांच

भवन में सौर ऊर्जा, रेन वाटर हारवेस्टिंग की सुविधा भी होगी। आवास और हास्टल के लिए कॉलेज परिसर में 3.62 एकड़ भूमि उपलब्ध है। इस प्रोजेक्ट को दो साल में पूरा कर लिया जाएगा। जिसकी लागत 76.97 करोड़ रुपये होगी। बैठक में सचिव स्वास्थ्य डाॅ. आर राजेश कुमार समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *