Uttarakhand News:विशेषज्ञ चिकित्सकों की बढ़ाई गई रिटायरमेंट की उम्र, डॉक्टरों का अलग कैडर भी बनेगा

ख़बर शेयर करें -

अब सरकार ने विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए एक और कदम उठाया है। जिसमें तहत स्वास्थ्य विभाग ने विशेषज्ञ चिकित्सकों के रिटायरमेंट की आयु को पांच साल बढ़ाने का निर्णय लिया है। इससे पहले स्वास्थ्य विभाग ने यू कोट वी पे योजना के तहत तमाम विशेषज्ञ चिकित्सकों की भर्ती की थी।

🔹विशेषज्ञ चिकित्सकों के लिए अलग कैडर भी बनेगा 

स्वास्थ्य विभाग अब विशेषज्ञ चिकित्सकों की सेवानिवृत्ति की सीमा 60 साल से बढ़ाकर 65 साल करने जा रहा है, साथ ही विशेषज्ञ चिकित्सकों के लिए अलग कैडर भी बनाया जाएगा, जिसका प्रस्ताव आगामी कैबिनेट बैठक के सम्मुख रखा जाएगा।दरअसल, शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत की अध्यक्षता में सचिवालय में स्वास्थ्य विभाग की उच्च स्तरीय बैठक की गई।इस बैठक मे विशेषज्ञ चिकित्सकों के लिए अलग कैडर बनाने और सेवानिवृत्ति की आयु को बढ़ाने का निर्णय लिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :विधानसभा का बजट सत्र आज से होगा शुरू,पहले दिन सदन में राज्यपाल का होगा अभिभाषण,27 फरवरी को पेश हो सकता है बजट

🔹चिकित्सकों की भर्ती का लिया गया निर्णय 

वहीं, मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसका प्रस्ताव अगले एक हफ्ते के भीतर तैयार कर शासन को सौंप दे, ताकि आगामी कैबिनेट बैठक के दौरान इस प्रस्ताव पर मंत्रिमंडल ली मंजूरी मिल सके। इस प्रस्ताव पर मंत्रिमंडल की मुहर लगने के बाद विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी दूर हो सकेगी।यही नहीं बैठक के दौरान निर्णय लिया गया है कि स्वास्थ्य विभाग में चिकित्सकों के खाली पड़े पदों पर तय वेतनमान पर चिकित्सकों की तैनाती किया जाएगी।साथ ही पीजी कोर्स करने गये एमबीबीएस डॉक्टर्स के विकल्प के रूप में कुछ अस्थाई पदों पर भी चिकित्सकों की भर्ती का निर्णय लिया गया है, जिसका प्रस्ताव भी कैबिनेट के सम्मुख रखा जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *