Uttarakhand News:इस बार उत्तराखंड की गंगा धारा में लगेगा स्नान मेला,इस कारण मेला कमेटी को यहां करा रही आयोजन

ख़बर शेयर करें -

गंगा की धारा दो किलोमीटर दूर उत्तराखंड में होने से नांगलसोती के गंगा घाट पर स्नान मेले को लेकर चल रही असमंजस की स्थिति रविवार को साफ हो गई। इस बार मेला उत्तराखंड की गंगा की धारा में लगेगा। यूपी के किसानों के साथ हुई वार्ता में उत्तराखंड ने मेला आयोजन को लेकर सहमति दी है। किसानों ने रास्ता निर्माण कराने का भी आश्वासन दिया है।

🔹इस कारण मेला आयोजन करना पड़ रहा

नांगलसोती के गंगा घाट पर वर्षों से गंगा स्नान मेला लगता आ रहा है। कार्तिक पूर्णिमा पर 25 नवंबर से इस बार मेला आयोजन होना है। मेला इंचार्ज सिंधुराज ने बताया कि इस वर्ष गंगा नदी की धारा दो किलोमीटर दूर उत्तराखंड में बह रही है। स्नान करने के लिए नांगल क्षेत्र में गंगा नदी का पर्याप्त पानी नहीं आ रहा है। इस कारण मेला कमेटी को मजबूरन उत्तराखंड क्षेत्र में मेला आयोजन करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :यहा घर में गैस सिलेंडर फटने से एक ही परिवार के पांच लोग घायल

🔹किसानों ने मेला आयोजन को लेकर अपनी सहमति दी 

उन्होंने बताया कि मेला आयोजन को लेकर रविवार को उत्तराखंड और यूपी के किसानों के बीच बैठक हुई। उत्तराखंड के किसानों ने मेला आयोजन को लेकर अपनी सहमति दी है। उन्होंने अन्य किसानों से बातचीत कर गन्ना काटने और गंगा घाट तक पहुंचने के लिए रास्ता निर्माण कराने का आश्वासन मेला समिति के पदाधिकारी को दिया है। बैठक में नांगलसोती के ग्राम प्रधान मो.फरमान, वीरेंद्र शर्मा, गौतम, साजिद, मनोज शर्मा, उत्तराखंड के रंजीतपुर की ग्राम प्रधान प्रतिभा के प्रतिनिधि महावीर सिंह, मूला सिंह, संदीप कुमार आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  UttarPradesh News :यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के परिजनों को अपशब्द कहना और जान से मारने की धमकी देना कांग्रेसी नेता को पडा भारी,आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज

🔹मेला आयोजन में ये फंस रहा था पेंच

नांगलसोती के ग्राम प्रधान और मेला संरक्षक मो. फरमान का कहना है कि मेला आयोजन में मार्ग निर्माण सबसे बड़ी बाधा है। उत्तराखंड में गंगा की धारा तक पहुंचने के लिए कई बीघा गन्ने की फसल काटकर रास्ता बनाया जाना है। यदि उत्तराखंड के किसान गन्ने काटने को राजी होते है तो मेला आयोजन में आसानी होगी। 

गंगा स्नान मेला आयोजन के संबंध में उत्तराखंड प्रशासन से बात की गई है। एसडीएम लक्सर भोपाल सिंह चौहान ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है। मेला आयोजन में मेला कमेटी की हर संभव मदद की जाएगी। – संजय कुमार बंसल, एसडीएम, नजीबाबाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *