Pithoragarh News :पिथौरागढ़ मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य पूरा होने की वर्ष 2025 तक नहीं है उम्मीद

ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ में वर्ष 2025 तक मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य पूरा होने की उम्मीद नहीं है। वर्तमान तक कार्यदायी संस्था सिर्फ 22 प्रतिशत ही कार्य पूरा पाई है। उन्हें 2025 तक कार्य पूरा करना है।

💠जिस गति से निर्माण कार्य चल रहा है उस गति से निर्माण कार्य पूरा होना असंभव लग रहा है।

पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय से 13 किमी दूर 678.89 करोड़ की लागत से मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य किया जा रहा है। वर्तमान तक सरकार निर्माण के लिए कार्यदायी संस्था को 320 करोड़ रुपये जारी कर चुकी है। कार्यदायी संस्था उत्तराखंड पेयजल निर्माण निगम अभी तक मेडिकल कॉलेज कैंपस का मात्र 22 प्रतिशत कार्य पूरा कर चुकी है। वर्तमान में बेस अस्पताल के पास चिकित्सकों के रहने के लिए आवास का निर्माण कार्य किया जा रहा है। इसके बाद यहां पर ओपीडी, आईपीडी, वार्ड आदि का निर्माण कार्य किया जाना है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :उत्तराखंड सरकार ने पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड और दिव्य फार्मेसी की दर्जन से अधिक दवाओं के उत्पादन को निलंबित करने के आदेश पर लगाई रोक

वर्तमान में इसके निर्माण के लिए वन भूमि की सैद्धांतिक स्वीकृति नहीं मिल पाई है। वन भूमि की सैद्धांतिक स्वीकृति कब मिलेगी कब निर्माण कार्य शुरू होगा अभी तय नहीं है। कार्यदायी संस्था को वर्ष 2025 तक पिथौरागढ़ में मेडिकल कॉलेज कैंपस और अस्पताल का निर्माण कार्य पूरा करना है।

💠बेस का भी नहीं हो पा रहा है संचालन

पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ के जिला अस्पताल में करोड़ों की लागत से बेस अस्पताल का निर्माण कार्य किया गया है। जिला अस्पताल में हर रोज रोगियों की भीड़ लगी रहती है, लेकिन करोड़ों की लागत से बनी बेस अस्पताल की बिल्डिंग डायलिसिस और सिटी स्कैन तक ही सीमित है। लोगों ने मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य पूरा कराकर संचालन शुरू करने की मांग की है। 

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :पहाड़ों में बारिश के साथ तेज हवाओं से होगा सामना,जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

मेडिकल कॉलेज कैंपस का 22 प्रतिशत कार्य पूरा हो गया है। कार्यदायी संस्था को तेज गति से कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। जल्द कार्य को पूरा कर लिया जाएगा। – डॉ. अजय आर्या प्राचार्य मेडिकल कॉलेज पिथौरागढ

मेडिकल कॉलेज का निर्माण कार्य तेज गति से किया जा रहा है। निर्माण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। जल्द से कार्य पूरा हो इसके प्रयास किए जा रहे हैं। – अभिषेक स्नेही, जेई उत्तराखंड पेयजल निर्माण निगम पिथौरागढ़।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *