International News:यूरोपीय देश चेक रिपब्लिक के प्राग यूनिवर्सिटी में हुई गोलीबारी,हमलावर सहित 15 लोगों की मौत

ख़बर शेयर करें -

चेक राजधानी के जन पलाच स्क्वायर पर चार्ल्स यूनिवर्सिटी के पास गुरुवार को हुई फायरिंग की घटना में कई लोग मारे गए। पुलिस ने बताया कि हमलावर को ढेर कर दिया गया है। चेक पुलिस ने एक्स पर एक पोस्ट में कहा, शूटर को ढेर कर दिया गया है।

🔹10 की हालत गंभीर 

स्थानीय पुलिस के अनुसार, गोलीबारी में कम से कम 15 लोग मारे गए। गुरुवार शाम को एक प्रेस वार्ता में चेक पुलिस के अध्यक्ष मार्टिन वोंद्रासेक ने कहा कि गुरुवार दोपहर चार्ल्स विश्वविद्यालय के कला संकाय में हुई गोलीबारी में 15 लोगों की मौत हो गई और 24 घायल हो गए, इनमें 10 की हालत गंभीर है।

🔹जाने मामला 

समाचार एजेंसी श‍िन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा कि संकाय भवन के अंदर हथियारों और गोला-बारूद का एक बड़ा भंडार था। अगर पुलिस ने तुरंत हस्तक्षेप नहीं किया होता तो और भी कई लोग मारे जाते। इससे पहले, वोंद्रासेक ने पत्रकारों को बताया कि 15 से अधिक लोगों की जान चली गई और कम से कम 24 अन्य घायल हो गए।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :अब नैनीसैनी एयरपोर्ट पर उतारा जा सकेगा 42 सीटर हवाई जहाज,सार्वजनिक हवाई सेवा के लिए भी लाइसेंस उच्चीकृत

पुलिस ने सोशल मीडिया एक्स पर कहा कि वे अभी भी मृतकों की पहचान की जांच कर रहे हैं, इनमें से एक विदेशी है। हमलावर को मार दिया गया है। चेक न्यूज़ एजेंसी (सीटीके) के अनुसार, स्थानीय पुलिस को सूचित किया गया था कि सेंट्रल बोहेमिया क्षेत्र के होस्टून का एक युवक प्राग के लिए रवाना होने वाला था, उसने कहा कि वह अपनी जान लेना चाहता है। लगभग 25 मिनट बाद, युवक के पिता को होस्टून में मृत पाया गया और पुलिस ने संदिग्ध के रूप में बेटे की तलाश शुरू की।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का बड़ा ऐलान,हर महीने के 5 तारीख को लाभार्थियों के खाते में आएंगी पेंशन

पुलिस को यह भी बताया गया कि शूटर को प्राग में सेलेटना स्ट्रीट पर कला संकाय भवन में एक व्याख्यान देना था। इस प्रकार उन्होंने इमारत को खाली कर दिया, लेकिन गोलीबारी जान पलाच स्क्वायर पर एक अन्य इमारत में हुई, जैसा कि सीटीके ने बताया। चेक प्रधानमंत्री पेट्र फियाला ने गुरुवार शाम को मीडिया से कहा कि फिलहाल, गोलीबारी किसी अकेले बंदूकधारी की हरकत लग रही है और यह न तो अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद है और न ही किसी संगठित समूह की हरकत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *