Health Tips :फैट घटाते समय न करे ये गलतियां,हाे सकता है ये नुकसान

ख़बर शेयर करें -

आमतौर पर वजन बढ़ाने में इतनी मेहनत नहीं लगती है, जितना घटाने में लगती है। वजन घटाते हुए व्यक्ति को अपनी रूटीन, लाइफस्टाइल, डाइट सब कुछ बदलना पड़ता है।

💠यहां तक कि रेगुलर एक्सरसाइज करनी होती है, कैलोरी काउंट पर ध्यान देना पड़ता है साथ ही फैट बर्न पर फोकस करना पड़ता है। हालांकि, सही तरह से इस रूटीन को फॉलो करने से फैट बर्न करने में मदद मिलती है। लेकिन, कई बार फैट बर्न करने के चक्कर में लोग ऐसी गलतियां कर बैठते हैं, जो उन्हें फायदे के बजाय नुकसान पहुंचाते हैं। इस लेख में हम ऐसी ही गलतियों की बात करें, जो फैट बर्न करने के दौरन ज्यादातर लोग करते हैं।

💠खाना न खाना- Skipping Meal

वजन कम करने के लिए लोग जो पहला कदम उठाते हैं, वे है खाना न खाना या फिर खाने में कटौती करना। फैट बर्न करने के लिए अपनी हेल्दी डाइट में कटौती करना समझदारी नहीं है। इससे शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है और कई अन्य बीमारियां होने लगती हैं। यहां तक कि लंबे समय तक भूखे रहने की वजह से आप ओवर ईटिंग करने लगते हैं। आपको ऐसा नहीं करना है। इसके बजाय, आपको जंक फूड, प्रीजर्व्ड फूड जैसी चीजों से दूर रहना है।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :नए शिक्षा सत्र में स्नातक में अब 14 जून तक किए जाएगे समर्थ पोर्टल में पंजीकरण

💠कार्ब्स न लेना- Not To Take Enough Carbs

वेट लॉस डाइट को फॉलो करते समय अक्सर लोगों को कार्ब्स लेने की मनाही होती है। शायद आपको यह बात पता न हो, जिन चीजों में आपको कार्ब्स मिलता है, उनमें फाइबर भी अच्छी खासी मात्रा में मौजूद होता है। कार्ब्स की कटौती के चक्कर में लोग अक्सर फाइबर का इनटेक कम कर देते हैं। ऐसे में पेट से जुड़ी समस्याएं होने लगती हैं और ।

💠स्ट्रेस लेना- Stress

वेट लॉस करने के चक्कर में लोग अक्सर स्ट्रेस से भर जाते हैं। दरअसल, जिन्हें अपना वजन कम करना होता है, वे हर दूसरे दिन अपना वेट चेक करते हैं और यह पता लगाते हैं कि उनका वजन कम हुआ है। रोजाना ऐसा करने की वजह से । तनाव का स्तर बढ़ने से मोटापा कम होने के बजाय बढ़ सकता है। इसलिए, वेट लूज करने की अपनी जर्नी में स्ट्रेस से दूर रहें।

💠एक्स्ट्रा प्रोटीन लेना- Intake Of Extra Protein

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :उत्तराखंड मौसम विभाग ने एक बार फिर से मौसम में बदलाव के दिए संकेत,जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

माना जाता है कि जो लोग वजन कम करने के लिए जिम जाते हैं, उन्हें ही प्रोटीन डाइट की जरूरत होती है। जबकि वेट कम करने के लिए कोई प्रोटीन बेस्ड डाइट को इंपॉर्टेंस देता है। कई बार ऐसा होता है कि वजन कम करने की चाहत में डाइट में प्रोटीन की मात्रा ज्याद हो जाती है। , “अगर आप एक्स्ट्रा प्रोटीन लेते हैं, तो इसका बहुत बुरा असर शरीर के अलग-अलग अंगों पर पड़ सकता है। इसमें किडनी, लिवर और बोन्स शामिल हैं। इसके अलावा, कोरोनरी हार्ट डिजीज का रिस्क भी बढ़ जाता है।”

💠कंसीस्टेंट नहीं रहना- Inconsistency

वजन कम करना हो या फिर अपनी फिटनेस को मेनटेन करना है। आपको हर स्थिति में कंसीस्टेंट रहना चाहिए। इसका मतलब है कि फैट बर्न रूटीन को नियमित रूप से फॉलो करना चाहिए। लेकिन, लोग अक्सर अपने रूटीन को बीच में ही छोड़ देते हैं। कभी एक्सरसाइज नहीं करते हैं, तो भी चीट-डे के नाम पर ओवर ईटिंग कर बैठते हैं। ऐसा करना सहीं नहीं है। इससे फैट बर्न नहीं होगा, बल्कि इनकंसीस्टेंसी की वजह से शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं।