Almora News:जिले में राष्ट्रीय राजमार्गों का होगा कायाकल्प,अल्मोड़ा-पनार हाईवे बनेगा टू लेन

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ और चंपावत को आपस में जोड़ने वाला प्रमुख हाईवे टू-लेन बनेगा, इसकी कवायद शुरू हो गई है। अल्मोड़ा-पनार हाईवे का 500 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से चौड़ीकरण होगा।

90 किमी लंबा अल्मोड़ा-पनार हाईवे तीन जिलों को आपस में जोड़ने के साथ ही पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। सिंगल लेन के साथ ही हाईवे बदहाल होने से पर्यटक और तीनों जिलों के यात्री और वाहन चालक इस सड़क से आवाजाही करने से परहेज कर रहे हैं।

हालात यह हैं कि पिथौरागढ़-टनकपुर एनएच बेहतर होने के बाद इस हाईवे से आवाजाही करने वाले पर्यटक, यात्री और वाहन चालकों की संख्या में 70 प्रतिशत से भी अधिक गिरावट आई है। इस हाईवे पर दन्या, पनुवानौला, बाड़ेछीना सहित अन्य स्थानीय बाजारों में यात्रियों की संख्या घटने से कारोबार बेहद धीमा पड़ गया है, इससे कारोबारी परेशान हैं। अब इस हाईवे का चौड़ीकरण कर इस पर आवाजाही सुगम बनाने की कवायद शुरू हुई है। जल्द ही हाईवे का चौड़ीकरण कार्य शुरू होगा, इसकी डीपीआर तैयार होने लगी है। एनएच के अधिकारियों के मुताबिक हाईवे के चौड़ीकरण के लिए 500 करोड़ रुपये से अधिक का खर्च आने का अनुमान है। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :अब सरकारी अस्पतालों में कार्यरत फार्मेसिस्ट कहे जाएंगे फार्मेसी अधिकारी,शासनादेश जारी

🔹चौड़ीकरण की जद में आने वाले भवनों और पेड़ों का जल्द होगा सर्वे

एनएच के अधिकारियों के मुताबिक हाईवे को टू-लेन बनाने के लिए इसकी जद में आने वाले भवनों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों के साथ ही पेड़ों को हटाना जरूरी होगा। विभाग जल्द ही इसकी जद में आने वाले भवनों और पेड़ों का सर्वे करेगा। 

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :राज्य स्वास्थ्य प्राधिकरण की ओर से जिला अस्पताल को आयुष्मान उत्कृष्टता सम्मान से नवाजा गया

🔹चौड़ीकरण की जद में आने वाले भवनों और पेड़ों का जल्द होगा सर्वे

एनएच के अधिकारियों के मुताबिक हाईवे को टू-लेन बनाने के लिए इसकी जद में आने वाले भवनों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों के साथ ही पेड़ों को हटाना जरूरी होगा। विभाग जल्द ही इसकी जद में आने वाले भवनों और पेड़ों का सर्वे करेगा। 

🔹पुलों का भी होगा नवनिर्माण

अल्मोड़ा-पनार हाईवे पर पांच से अधिक पुल का सालों पहले निर्माण हुआ था जो वर्तमान में बदहाली की मार झेल रहे हैं। हाईवे चौड़ीकरण के साथ इन पुलों का भी नवनिर्माण होगा और इनकी भार क्षमता भी बढ़ेगी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *