Almora News:हल्द्वानी हाईवे पर मलबा गिरने से यात्रियों को तय करना पड़ रहा लंबा सफ़र, दुगना किराया भी बढ़ा

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी-अल्मोड़ा राष्ट्रीय राजमार्ग-87 बंद होने से यात्रियों को अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।क्वारब पुल के पास बृहस्पतिवार की रात भारी मात्रा में मलबा आ गया। इससे सड़क यातायात के लिए बंद हो गई। अल्मोड़ा से हल्द्वानी जाने वाले वाहन खैरना-रानीखेत, शहरफाटक-मोतियापाथर- खुटानी होते हुए रवाना हुए।

🔹बसें, टैक्सी लम्बे रूट से हुई रवाना 

वाहन घूमकर जाने से यात्रियों को 100 से 200 रुपये अतिरिक्त किराया देना पड़ा। यात्रियों ने टैक्सी में 600, केमू में 300 रुपये किराया चुकाया। साथ ही 50 किमी का फेरा भी बढ़ गया।

हल्द्वानी-अल्मोड़ा हाईवे पर क्वारब पुल के पास देररात करीब 10 बजे भारी मात्रा में मलबा आ गया। मार्ग बंद होने से अल्मोड़ा से हल्द्वानी की ओर जाने वाली टैक्सियां, केमू की बसें खैरना-रानीखेत, शहरफाटक-मोतियापाथर-खुटानी होते हुए रवाना हुई।

🔹दुगना किराया देने से यात्री परेशान 

इसी तरह हल्द्वानी से आने वाले वाहन इसी मार्ग से अल्मोड़ा पहुंच रहे हैं। टैक्सी में हल्द्वानी का किराया 400 रुपये हैं लेकिन यात्रियों को खैरना-रानीखेत से जाने पर 200 रुपये अतिरिक्त किराये के साथ 600 रुपये चुकाने पड़े। केमू में हल्द्वानी का किराया 200 रुपये हैं लेकिन रानीखेत मार्ग से जाने पर यात्रियों को 100 रुपये अतिरिक्त के साथ 300 रुपये किराया देना पड़ा। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand News:यहां 15 बंदरों की संदिग्ध मौत से मचा हड़कंप, मुंह-कान से निकल रहा था खून

अल्मोड़ा-हल्द्वानी राष्ट्रीय राजमार्ग-87 पर क्वारब पुल के पास मलबा आने से मार्ग बंद हो गया था। सुबह 11 बजे बाद हल्के वाहनों की आवाजाही हुई। हालांकि भारी वाहनों के लिए सड़क अभी भी बंद है-विनीत पाल, आपदा प्रबंधन अधिकारी

🔹डीएम ने मार्ग का निरीक्षण कर जल्द खोलने के दिए निर्देश 

हल्द्वानी-अल्मोड़ा हाईवे पर क्वारब पुल के पास मात्रा में मलबा आने पर डीएम विनीत तोमर ने स्थलीय निरीक्षण किया। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को शीघ्र मार्ग खोलने के निर्देश दिए। कहा कि भारी वाहनों को एक साथ पुल से न भेजा जाए। एक-एक कर वाहनों का आवागमन करें। उन्होंने पुल के दोनों ओर सुरक्षा कार्मिक तैनात करने के निर्देश दिए। कहा कि अल्मोड़ा से आने-जाने वाले वाहनों को खैरना-रानीखेत, शहरफाटक-मोतीयापाथर-खुटानी होते हुए भेजे। इस दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग हल्द्वानी के सहायक अभियंता जेके पांडे सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। संवाद

यह भी पढ़ें 👉  Nainital News:नैनीताल में नंदा देवी महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम, भक्तों ने मां नंदा सुनंदा के किए दर्शन

🔹बोले यात्री

हल्द्वानी से शहरफाटक-मोतियापाथर-खुटानी होते हुए अल्मोड़ा पहुंचा हूं। सड़क बंद होने और घूमकर आने पर अतिरिक्त किराया देना पड़ा। इससे आर्थिक नुकसान हुआ। प्रशासन को शीघ्र मार्ग खुलवाना चाहिए। – वीरेंद्र कुमार

🔹शहरफाटक होते हुए अल्मोड़ा आना पड़ा। वाहनों का फेरा बढ़ने पर एक तो समय बर्बाद हुआ वहीं किराया भी अधिक देना पड़ा। इससे जेब ढीली हुई। इसलिए हाईवे प्रशासन को जल्द मार्ग खोलना चाहिए। – गजेंद्र मेहरा 

🔹हल्द्वानी का किराया 400 रुपये है। अल्मोड़ा- हल्द्वानी मार्ग बंद होने से टैक्सियों का संचालन खैरना-रानीखेत से हुआ। फेरा बढ़ने से किराये में 200 रुपये वृद्धि होकर 600 रुपये लिया गया। – बालकृष्ण जोशी, कोषाध्यक्ष टैक्सी यूनियन अल्मोड़ा

🔹केमू की बसें खैरना-रानीखेत से रवाना हुई। केमू में हल्द्वानी का किराया 200 रुपये हैं लेकिन खैरना-रानीखेत से होकर जाने पर 100 रुपये अतिरिक्त किराये के साथ 300 रुपये किराया चुकाना पड़ा। – बीबी चंदोला, सुपरवाइजर केमू