मुख्यमंत्री के आदेश के बाद बागेश्वर जिलाधिकारी एक्सन में 11 एवं 12 छात्र छात्राओं के प्रमाण पत्र विद्यालयों में बनाने के दिये आदेश

ख़बर शेयर करें -

 

जनपद के समस्त विद्यालयों में कक्षा 11 एवं 12 में अध्ययनरत छात्र छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षाओं में प्रतिभाग किये जाने की आवश्यकता के दृष्टिगत स्थायी निवास, जाति एवं आय तथा अन्य आवश्यक प्रमाण-पत्र विद्यालय में ही बनाकर उपलब्ध कराये जायेंगे यह बात जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने संबंधित अधिकारियों की बैठक लेते हुए कही साथ ही विद्यार्थियों का डीजी लॉकर बनाकर उसमें प्रमाण पत्र सॉफ्ट कापी में भी उपलब्ध कराये जायेंगे।

 

 

 

 

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि उप जिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, पटवारी, ग्राम विकास अधिकारी व सीएससी सेंटर पूरे सिस्टम के साथ प्रत्येक इण्टरमीडिएट विद्यालय में जा कर प्रमाण पत्र बनाकर विद्यार्थियों को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने शिक्षा अधिकारी को अपने-अपने क्षेत्र के इण्टरमीडिएट विद्यालयों की सूची व छात्रसंख्या के साथ उप जिलाधिकारियों को तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश दिये ताकि रोस्टर बनाकर विद्यालयों में जाकर प्रमाण पत्र बनाये जा सके।

 

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड की प्रतिभा का एशिया और वर्ल्ड बॉडी बिल्डिंग चैंपियनशिप के लिए चयन

 

 

 

 

उन्होंने प्रमाण पत्रों बनाने हेतु जिन-जिन अभिलेखों की आवश्यकता होती है की चैकलिस्ट संबंधित विद्यालय को तत्काल मय शुल्क सहित उपलब्ध कराने के निदेश दिये। आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्तियों के परिवार के छात्र-छात्राओं को निर्धारित प्रारूप भी उपलब्ध करायेंगे। डिजी लॉकर का कार्य जिला सूचना एवं विज्ञान अधिकारी व ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर द्वारा संकलित रूप से सम्पादित किया जायेगा।

 

 

 

 

 

डिजी लॉकर को निर्मित किये जाने के लिए जिला शिक्षा अधिकारी विद्यालय के छात्र-छात्राओं का पूर्ण विवरण मय संचार तंत्र के इन्हें उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। इसी प्रकार ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर, बागेश्वर जनपद में कार्यरत सभी सीएससी सेन्टरों की सूची जनपद के समस्त उप जिलाधिकारियों व तहसीलदारों को तत्काल उपलब्ध कराना सुनिश्चित कर लें।

 

 

यह भी पढ़ें 👉  मोटर साइकिल चोर मोटरसाइकिल सहित किये गिफ्तार

 

 

विद्यालयों में अध्ययनरत् समस्त छात्र-छात्राओं को प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी संबंधित विद्यालय के प्रधानाचार्य की होगी। यदि किसी विद्यालय में किसी छात्र-छात्रा के कोई वांछित अभिलेख प्रमाण पत्र जारी करने हेतु उपलब्ध न हो या उनमें किसी प्रकार की कोई शंका हो तो उसे चिन्हित कर उसे समिति के समक्ष विचारार्थ रखा जायेगा। जिला समाज कल्याण अधिकारी को विद्यालयों का भ्रमण कर अध्ययनरत् छात्र-छात्राओं को समाज कल्याण द्वारा चलायी जा रही छात्रवृत्ति योजना से लाभान्वित होने के संबंध में विद्यार्थियों को आवश्यक जानकारियॉ देते हुए उनसे नियमानुसार आवेदन भरवाना सुनिश्चित करेंगे।

 

 

 

 

 

बैठक में अपर जिलाधिकारी चन्द्र सिंह इमलाल, उपजिलाधिकारी हरगिरि, राजकुमार पांडे, मोनिका, समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी, जिला पंचायत राज अधिकारी सुन्दर लाल, खण्ड शिक्षा अधिकारी चक्षुपति अवस्थी, कमलेश्वरी मेहता, खण्ड विकास अधिकारी आदि उपस्थित थे।

रिपोटर हिमांशु गढ़िया

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments