Uttrakhand News :आटे का लालच देकर बच्चे का अपहरण करने वाली महिला को दिल्ली से किया गया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

हरिद्वार में आटे का लालच देकर एक महिला का सात माह के मासूम का अपहरण करने वाले पति-पत्नी को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। उनके कब्जे से मासूम को बरामद कर उसकी मां को सौंप दिया गया।

💠एसएसपी अजय सिंह ने सीसीआर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूरे मामले का पर्दाफाश किया।

भीख मांग कर गुजारा करने वाली एक महिला सोमवार को अपने सात माह के बच्चे को लेकर भिक्षावृत्ति करते घूम रही थी। तभी महिला ने प्लान बना कर पीड़िता को एक किलो आटे का लालच देकर आटा लेने भेज दिया था। जब तक वह वापस लौटी तो महिला उसके बच्चे को लेकर गायब हो चुकी थी।

💠आईएसबीटी बस अड्डा दिल्ली से किया बरामद

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें शनिवार 22 जून 2024

एसएसपी अजय सिंह ने बच्चे की सकुशल बरामदगी के लिए अधीनस्थों को निर्देशित करते हुए पुलिस टीमों का गठन किया था। पुलिस टीम ने सैकड़ों सीसीटीवी फुटेज चेक कर अपहृत मासूम को आनंद विहार आईएसबीटी बस अड्डा दिल्ली से सकुशल बरामद करते हुए अपहरणकर्ता महिला और उसकी पति को गिरफ्तार कर लिया।

💠निसंतान दंपत्ति ने किया बच्चा चोरी

एसएसपी अजय सिंह ने बताया निसंतान दंपती तमन्ना खातून व उसके पति राजेन्द्र कुमार राठौर निवासी अहिरन टोला थाना बेनीगंज जिला हरदोई ने अपनी गोद भरने के लिए बच्चा चोरी किया था। दोनों को गिरफ्तार कर मासूम को बरामद कर लिया है।

💠मां को सौंपा बच्चा

पुलिस ने सात महीने के इस मासूम को उसकी मां के हवाले कर दिया है। बता दें कि इस बच्चे की मां भीख मांग कर अपने और अपने बच्चे के जीवन का गुजारा करती है। अपने मासूम से बच्चे को पाकर मां खुश है। वहीं, पुलिस टीम के चेहरे पर भी खुशी साफ नजर आई।  अहिरन टोला थाना बेनीगंज जिला हरदोई ने अपनी गोद भरने के लिए बच्चा चोरी किया था। दोनों को गिरफ्तार कर मासूम को बरामद कर लिया है।
💠मां को सौंपा बच्चा
पुलिस ने सात महीने के इस मासूम को उसकी मां के हवाले कर दिया है। बता दें कि इस बच्चे की मां भीख मांग कर अपने और अपने बच्चे के जीवन का गुजारा करती है। अपने मासूम से बच्चे को पाकर मां खुश है। वहीं, पुलिस टीम के चेहरे पर भी खुशी साफ नजर आई।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :एसएसपी अल्मोड़ा के निर्देशन में लमगड़ा पुलिस ने चलाया सत्यापन अभियान,सत्यापन हेतु भवन स्वामियों/ठेकदारों को किया जागरुक