Uttrakhand News :टिहरी बांध परियोजना के तीसरे चरण का कार्य जल्द होगा पूरा,एक महीने के लिए बिजली का उत्पादन रहेगा बंद

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड स्थित टिहरी बांध परियोजना के तीसरे चरण का कार्य पूरा करने के लिये टिहरी डैम से एक महीने के लिए बिजली का उत्पादन बंद रहेगा इसके साथ पानी की सप्लाई भी बाधित रह सकती है इसको लेकर अधिशासी निदेशक टिहरी बांध परियोजना एल पी जोशी ने जानकारी दी है.

एशिया के सबसे बड़े टिहरी डैम, जो 42 किलोमीटर तक फैला हुआ है, और टिहरी बांध परियोजना से पावर ग्रिड के माध्यम से नौ राज्यों को बिजली सप्लाई की जाती है.वर्तमान में टिहरी डैम से 1 हजार मेगावाट ,व कोटेश्वर डैम से 400 मेगावाट बिजली का उत्पादन हो रहा है शेष 1 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन के लिये पीएसपी ( पंप स्टोरेज प्लांट) का कार्य अंतिम चरण में है.

पंप स्टोरेज प्लांट में दो मशीन बॉक्स अप हो चुकी है और लगभग सिविल कार्य भी पूरा हो चुका है. अब मात्र इस डीएसपी के आउटलेट का वाटर लेवल कम करना है उसे वाटर लेवल को कम करने के लिए हमें एक महीने के लिए टिहरी डैम और कोटेश्वर डैम का प्लांट शटडाउन करके 1 महीने के लिए बंद रहेगा. उस दौरान बिजली का उत्पादन पूरी तरह से बंद रहेगा. इसके लिए हाई पावर अथॉरिटी से अनुमति ले ली गई है. पंप स्टोरेज प्लांट का कार्य एक महीने के अंदर पूरा करने का टारगेट रखा गया है.

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :लंबे समय से कर्मचारियों की कमी से जूझ रहे डीआईसी में लंबे समय बाद सात कर्मियों की हुई तैनाती

💠2400 मेगावाट बिजली का होगा उत्पादन

टिहरी डैम और कोटेश्वर डैम मिलाकर 2400 मेगावाट बिजली के उत्पादन के लिए पीएसपी (पंप स्टोरेज प्लांट)का कार्य अंतिम चरण में है जिससे 1 हजार मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा. पीएसपी (पंप स्टोरेज प्लांट)का कार्य अंतिम चरण में है और इसको पूरा बनाने के लिए टिहरी डैम और कोटेश्वर डैम से बिजली का उत्पादन एक महीने के लिए बंद हो जाएगा, इसको देखते हुए टिहरी बांध परियोजना के अधिकारी जोर शोर से काम मे लगे है,ताकि एक महीने में काम को पूरा किया जाय, और बिजली की सप्लाई शुरू हो सके.

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :आज से चारधाम में चार हजार तीर्थयात्रियों का किया जाएगा ऑफलाइन पंजीकरण,बांटे गए टोकन

एक महीने बिजली का उत्पादन बंद रहेगा तो उस दौरान टिहरी डैम से कोटेश्वर डैम के बीच नदी का प्रवाह बंद रहेगा, मात्र गंगा की अविरल धारा बहती रहेगी. हालांकि इस बीच आस पास के गांव और नई टिहरी शहर में पानी की कोई समस्या नही होगी. इसके लिए जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी की हुई है. साथ ही मैदानी इलाकों में पानी की कमी होगी क्योंकि देवप्रयाग से लगातार नदी का पानी निरन्तर ऋषिकेश, हरिद्वार आदि मैदानी इलाकों की तरफ बह रही है इसको लेकर टिहरी डैम के अधिशाशी निदेशक एल पी जोशी ने फिस्तर पूर्वक बताया की बिजली का उत्पादन मात्र एक महीने के लिए बंद रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *