Uttrakhand News:सात बच्चों का पिता बना हैवान,12 साल की लड़की से दुष्कर्म के बाद जानलेवा हमला

ख़बर शेयर करें -

जिस देश में बच्चियों को देवी की तरह पूजा जाता हो वहीं अगर बेटियां सुरक्षित नहीं है तो आखिर बेटियां कहां जाएं. जी हां दरअसल नैनीताल जिले के हल्द्वानी शहर में स्थित राजपुरा क्षेत्र से एक ऐसा ही मामला सामने आया है।

🔹जाने मामला 

जहां खुद सात बच्चों का बाप होने के बावजूद एक दरिंदे ने मासूम के साथ दरिंदगी कर उसकी हत्या करने का प्रयास किया. जिसके बाद पुलिस ने बच्ची द्वारा आरोपी की पहचान करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

बता दें कि बीती 8 अगस्त को पुलिस को सूचना मिली थी कि राजपुरा में गौला नदी से सटे जंगल में एक बच्ची घायल अवस्था में पड़ी है. जिस पर सूचना मिलते ही पुलिस टीम घटना स्थल पर पहुंची तो देखा कि बच्ची के शरीर में चोट के कई निशान थे. इसके साथ ही उसका जबड़ा भी किसी पत्थर से बुरी तरह कुचला गया था. जिस पर पुलिस को मामला संदिग्ध नजर आया और पुलिस मामले की जांच में जुट गई।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :हरिद्वार में गंगा घाटों पर स्नान के दौरान बालिकाओं और महिलाओं के फोटो, वीडियो बनाने बनाकर इंटरनेट मीडिया पर डालने वालों के खिलाफ अब पुलिस करेगी सख्त कार्रवाई

राजपुरा क्षेत्र की 12 वर्षीय नाबालिग अपने पिता को दोपहर में खाना देने के लिए गौला नदी की ओर गई थी. इसी बीच बच्ची को क्षेत्र में रहने वाला 47 वर्षीय आरोपी भी मिल गया. आरोपी ने बच्ची को बताया था कि उसके पिता गौला नदी में मछली पकड़ रहे हैं और वह उसे उसके पिता से मिलवा देगा. जिसके बाद आरोपी बच्ची को बहाना बनाकर जंगल में ले गया जहां उसने बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास किया. आरोपी इस कदर नशे में चूर था की उसने असफल होने पर पत्थर से बच्ची के चेहरे पर वार कर दिए. इतना ही नहीं उसने बच्ची का पायजामा फाड़ा और गला घोंट दिया. जिसके बाद बेहोश होने पर आरोपी बच्ची को मरा समझकर भाग गया. वहीं डेढ़ घंटे बाद जब बच्ची को होश आया तब उसके कराहने की आवाज सुनकर पास में बकरी चरा रहे बुजुर्ग दंपती ने युवाओं को बुलाया

और बच्ची को अस्पताल ले गए. इसके साथ ही उन्होंने पुलिस को भी मामले की जानकारी दी।

🔹ऐसे हुआ घटना का खुलासा 

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :इन राज्यों में होगी भारी बारिश, जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट ने बताया कि घटना के बाद आरोपी पर केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी गई थी. लेकिन घटना स्थल के आसपास सीसीटीवी न होने के चलते घटना का खुलासा करने के लिए मैनुअली काम करना पड़ा. जिसमें करीब 150 से अधिक लोगों की फोटो खींचकर बच्ची से उनकी पहचान कराई गई. जिसके बाद अस्पताल में भर्ती बच्ची ने आरोपी की पहचान की और पुलिस ने आरोपी को राजपुरा क्षेत्र से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. बच्ची की हालत में सुधार होने पर उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया है।

वहीं उन्होंने बताया कि आरोपी मजदूरी करता है, वारदात से पहले उसने एक व्यक्ति से 20 रुपये लेकर कच्ची शराब पी और उसके बाद बच्ची का पीछा कर उसे बहाने से अपने साथ जंगल में ले गया था। एसएसपी पंकज भट्ट ने मैनुअली वर्क कर जल्द घटना का खुलासा कर आरोपी को पकड़ने वाली पुलिस टीम की सराहना करते हुए पूरी टीम को पांच हजार रुपये का इनाम दिया।