Uttrakhand News :यहा बीती रात 10 वर्षीय बच्चे को गुलदार ने बनाया निवाला, दो माह के भीतर क्षेत्र में दूसरे बच्चे की मौत,गुलदार को आदमखोर घोषित करते हुए गोली मारने के आदेश

ख़बर शेयर करें -

किमाड़ी क्षेत्र में लंबे समय से दहशत का सबब बने गुलदार ने बीती रात गलज्वाड़ी के पास एक 10 वर्षीय बच्चे को निवाला बना दिया। दो माह के भीतर क्षेत्र में दूसरे बच्चे की मौत के बाद वन विभाग की नींद टूटी

💠गुलदार को आदमखोर घोषित करते हुए गोली मारने के आदेश दे दिए गए हैं।

जिस पर क्षेत्र में दो पशु चिकित्सकों को तैनात कर दिया गया है। साथ ही क्षेत्र में आठ पिंजरे और 12 कैमरा ट्रैप लगा दिए गए हैं। गुर्जर बस्ती के चारों ओर बड़ी संख्या में वन कर्मियों को तैनात कर गश्त की जा रही है। गुलदार दिखने पर पहले उसे ट्रैंकुलाइज किया जाएगा, इस दौरान आवश्यकता पड़ने पर उसे गोली मार दी जाएगी।

बीते रविवार की रात गलज्वाड़ी वन बीट से सटी मराड़ी गुर्जर बस्ती में गुलदार ने रात करीब सवा आठ बजे 10 वर्ष के बच्चे शराफत पर हमला कर दिया था। बच्चा बस्ती में ही लघुशंका करने जंगल की ओर गया था। जहां झाड़ियों में घात लगाकर बैठे गुलदार ने उस पर हमला कर दिया।

चीखने पर बच्चे के पिता मीर हमजा अन्य ग्रामीण बाहर आए और गुलदार के जबड़े से बच्चे को छुड़ाने का प्रयास किया। भीड़ के पहुंचने पर गुलदार बच्चे को छोड़कर जंगल की ओर भाग गया। बुरी तरह घायल बच्चे को जब तक अस्पताल ले जाया जाता उसने दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर वन विभाग और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची, जिन्हें बस्तीवासियों के विरोध का सामना करना पड़ा।

बस्तीवासियों ने वन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। साथ ही पुलिस को शव ले जाने से भी रोका। हालांकि, बाद में पुलिस ने बस्तीवासियों को शांत कराया और शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। इधर, वन विभाग और पुलिस की टीम भी देर रात तक क्षेत्र के आसपास कांबिंग की।

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें सोमवार 15 अप्रैल 2024

प्रभागीय वनाधिकारी देहरादून नितीशमणी त्रिपाठी ने बताया कि सोमवार को भी क्षेत्र में सुबह से ही गश्त की जा रही है। तीन शिफ्ट में वन विभाग की तीन टीमें गुलदार की तलाश में जुटी हैं। साथ ही मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक समीर सिन्हा ने गुलदार को आदमखोर घोषित करते हुए गोली मारने के आदेश दिए हैं।

💠वन विभाग ने गुलदार की तलाश में झोंकी ताकत

देहरादून में बीते चार माह से ग्रामीण क्षेत्रों में गुलदार की दहशत है। पहले एफआरआइ और प्रेमनगर चाय बागान में गुलदार की चहलकदमी रही। इसके बाद डांडा लखौंड के आसपास गुलदार देखा गया। साथ ही कैनाल रोड, किमाड़ी, सिगली, संतला देवी, गलज्वाड़ी, फुलसनी आदि क्षेत्रों में गुलदार की धमक रही।

बीते दिसंबर के अंत में सिगली गांव में चार वर्ष के बच्चे को गुलदार ने घर के आंगन से उठा लिया था। इसके बाद चिरोंवाली-सोंधोवाली में गुल 12 वर्षीय बालक पर गुलदार ने हमला किया। इस बीच वन विभाग की ओर से गश्त बढ़ाने के साथ ही गुलदार को पकड़ने के तमाम प्रयास करने के दावे करते रहे।

हालांकि, गलज्वाड़ी क्षेत्र में स्थानीय निवासी वन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं। अब गुर्जर बस्ती में हुई घटना के बाद वन विभाग ने गुलदार को पकड़ने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है। देहरादून वन प्रभाग के तहत मालसी रेंज में हुई घटना को लेकर पूरे वन महकमे में हड़कंप है।

मालसी रेंज और आसपास की अन्य रेंज की टीमें तैनात कर दी गई हैं। दो ट्रैंकुलाइजिंग गन के साथ दो चिकित्सक, वन आरक्षी से लेकर रेंजर, प्रभागीय वनाधिकारी तक गश्त में जुटे हैं।

💠कैबिनेट मंत्री पीड़ित परिवार से मिले

गुर्जर बस्ती में सोमवार को कृषि मंत्री गणेश जोशी ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर ढांढस बंधाया। शोक संवेदना प्रकट करते हुए कैबिनेट मंत्री ने पीड़ित परिवार को सरकार की ओर से हर संभव सहायता का भरोसा दिलाया। उन्होंने वन विभाग के अधिकारियों को शीघ्र पीड़ित परिवार को तत्कालिक मुआवजा राशि देने के निर्देश दिए। कैबिनेट मंत्री पर्याय बने गुलदार को नरभक्षी घोषित कर अंतिम विकल्प के रूप में गुलदार को नष्ट करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि मसूरी विधानसभा क्षेत्र में हाल ही में गुलदार के हमले में यह तीसरी घटना है।

यह भी पढ़ें 👉  Big Breaking :वोट डालने के लिए जा रहे थे डॉ कार खाई में गिरने से मौके पर ही हुई मौत

💠…तो सिगली की घटना के बाद से आसपास ही था गुलदार

बीते 26 दिसंबर को अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के पास सिगली गांव में एक चार साल के बच्चे को गुलदार ने निवाला बना लिया था। अयांश घर के आंगन में था और श्वान की तलाश में आए गुलदार ने उसे दबोच लिया। अंदेशा जताया जा रहा है कि गुलदार तभी आदमखोर हो गया और आसपास के जंगलों में ही छिपा हुआ था। हालांकि, वन विभाग की ओर से लगातार गश्त कर गुलदार की तलाश की जा रही थी, लेकिन वह सीधे गुर्जर बस्ती पहुंच गया।

💠सिगली में दिखा गुलदार, क्षेत्र में दहशत

गलज्वाड़ी के निकट गुर्जर बस्ती में बच्चे पर हमला करने वाले गुलदार को सोमवार शाम को सिगली गांव की ओर देखा गया। क्षेत्रवासियों ने गांव की सड़क से गुजरते हुए गुलदार को देखे जाने की सूचना वन विभाग को दी है। जिससे क्षेत्रवासियों में दहशत बनी हुई है।

आदमखोर हो चुके गुलदार के क्षेत्र में दिखने से लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। सोमवार शाम को सिगली में सभी लोग शाम होते ही घरों में दुबक गए। बच्चे-बुजुर्गों को घर से बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है। साथ ही ग्रामीण झुंड बनाकर बाहर निकल रहे हैं। उधर, वन विभाग की टीम सूचना के बाद गश्त में जुट गई, लेकिन रात तक गुलदार के दोबारा दिखाई देने की कोई सूचना नहीं मिली।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *