Pitthoragah News:सीबीटीएस के चार सदस्यों के दल ने माउंट ब्रह्मा, ईशान पर्वत और आदि कैलाश जाने के लिए ढूंढ़े नए रास्ते

ख़बर शेयर करें -

क्लाइबिंग बियांड द समिट्स (सीबीटीएस) के चार सदस्यों का दल सेंट्रल आदि कैलाश रेंज की पहाड़ियों की रेकी कर धारचूला लौटा। टीम के सदस्यों ने अलग-अलग रास्ते से आदि कैलाश, ईशान पर्वत और ब्रह्मा पर्वत के संभावित क्लाइंबिंग के नए रास्तों को ढूंढ़ा है।

🔹स्थानीय युवाओं को मिलेगा मौका

दल के सदस्यों का कहना है कि इन नये रास्तों की खोज के बाद क्षेत्र में साहसिक और धार्मिक दोनों पर्यटन बढ़ेंगे। टीम वर्ष 2024 में सीबीटीएस टीम व्यास घाटी के 7,132 मीटर ऊंचाई पर स्थित अपी हिमाल अभियान पर निकलेगी जिसमें स्थानीय युवाओं को भी मौका दिया जाएगा।

🔹यह क्षेत्र क्लाइंबिंग के लिए बहुत कठिन

टीम के सदस्य कला बराल ने बताया कि टीम ने ज्योलिंगकांग से दो किमी पहले निखुर्च नाला से निखुर्च ग्लेशियर पर अपना कैंप बनाया। क्लाइबिंग बियांड द समिट्स के संस्थापक एवरेस्ट विजेता योगेश गर्ब्याल ने बताया कि इस क्षेत्र क्लाइंबिंग के लिए बहुत कठिन चोटियां हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :पूर्व दर्जामंत्री कर्नाटक ने तलाड़ में लगाई जनता की चौपाल,कहा जनता की समस्याओं का समाधान करना ही प्राथमिकता

🔹स्थानीय युवाओं को प्रशिक्षण भी दे रही

आदि कैलाश, ईशान पर्वत और ब्रह्मा पर्वत के लिए नए रास्ते खोजना खुशी की बात है। टीम के सदस्यों में सीबीटीएस की टीम में टिहरी से रिचा बड़ोनी, मुनस्यारी की मीनाक्षी रावत शामिल रहीं। 

सीबीटीएस संस्था वर्षों से आदि कैलाश क्षेत्र में साहसिक खेलों को बढ़ावा दे रही है। नए पर्यटक स्थल खोजने के काम के साथ-साथ स्थानीय युवाओं को प्रशिक्षण भी दे रही है।

🔹निखुर्च नाला को गणेश नाला नाम देना गलत 

पिथौरागढ़। स्थानीय गर्ब्यांग गांव निवासी योगेश गर्ब्याल ने बताया कि कुछ समय से पर्यटकों और स्थानीय गाइड ने निखुर्च नाला को गणेश नाला नाम दे दिया। निखुर्च क्षेत्र का अपना एक इतिहास है और एक समय में इस क्षेत्र में निखुर्च मंडी हुआ करती थी। हमें इस तरह से स्थानीय नाम के परिवर्तन को बढ़ावा नहीं देना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :नवनिर्वाचित सांसदों का दिल्ली पहुंचना शुरू,प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में राजग सरकार के तीसरे शपथ ग्रहण समारोह के उत्तराखंड के भाजपा नेता भी बनेंगे साक्षी

🔹2021 में चिपेंद चोटी पर फहराया तिरंगा 

वर्ष 2021 में सीबीटीएस वूमेन टीम आदि कैलाश क्षेत्र में सेला पास स्थित चिपेदं चोटी पर तिंरगा फहराया था। इसकी ऊंचाई 6120 मीटर है। पहली बार किसी भारतीय ने इस चोटी पर सफल आरोहण किया। टीम ने पिछले साल कुलागाड़ में आरसीसी पुल बहने के बाद रेस्क्यू अभियान चलाकर चार दिन में 2000 से ज्यादा लोगों को सकुशल पार कराया था।