National News:देश को मिलेंगी 6 और वंदे भारत एक्सप्रेस, इन शहरों की पटरी पर जल्द दौड़ेंगी

ख़बर शेयर करें -

नए साल के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को तीन नई वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों का तोहफा देने जा रहे है। प्रधानमंत्री मोदी जिन तीन नई वंदे भारत ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने वाले हैं उनमें अयोध्या से आनंद विहार, वैष्णों देवी कटरा से नई दिल्ली और अमृतसर से नई दिल्ली वंदे भारत ट्रेन शामिल है।

बता दें कि भारतीय रेलवे इस समय देश के अलग-अलग हिस्सों को वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों से जोड़ रहा है। वंदे भारत ट्रेनें उन रूट पर चलाई जा रही हैं, जहां सुबह से रात तक वह दोनों दिशा के फेरे लगा लें। फिलहाल दिल्ली से सात वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलती हैं, जो सप्ताह में छह दिन चलती हैं।

🔹राम मंदिर के उद्घाटन से पहले अयोध्या को मिल तोहफा

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :यहा पुलिस ने 96 पव्वे अवैध अंग्रेजी शराब के साथ 01 अभियुक्त को किया गिरफ्तार

अयोध्या में बन रहे भव्य राम मंदिर का अगले साल 22 जनवरी को उद्घाटन होने वाला है। ऐसे में उम्मीद है कि आगामी जनवरी में अयोध्या में होने जा रहे प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। इसे ध्यान में रखते हुए अयोध्या से दिल्ली के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जा रही है। इससे भगवान राम के दर्शन के लिए जाने वाले भक्तों को काफी राहत मिलेगी।

🔹दिल्ली से चलती है 7 वंदे भारत ट्रेनें

बता दें कि फिलहाल राजधानी दिल्ली से 7 वंदे भारत ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है। इनमें दो वंदे भारत नई दिल्ली से बनारस, एक वंदे भारत नई दिल्ली से कटरा, एक वंदे भारत नई दिल्ली से ऊना, एक आनंद विहार से देहरादून, एक वंदे भारत हजरत निजामुद्दीन से रानी कमलापति, एक वंदे भारत दिल्ली कैंट से अजमेर के बीच चलती है।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :लम्बे समय से फरार वांरटी अभियुक्त को द्वाराहाट पुलिस ने इस्लामनगर,गदरपुर से किया गिरफ्तार

🔹दूसरी लग्जरी ट्रेनों से कैसे अलग है वंदे भारत ट्रेन

ये ट्रेन पूरी तरह यानी 100 फीसदी स्वदेशी है।

इसकी रफ़्तार बहुत ही कम समय में160 किलोमीटर प्रति घंटे से बढ़कर 200 किलोमीटर प्रति घंटे हो जाती है।

भारत की ट्रेनों में इंजन का एक अलग से कोच होता है। लेकिन वन्दे भारत ट्रेन में मंत्रों ट्रेनों के जैसे ही एकीकृत इंजन होता है।

ट्रेन 100 किलोमीटर की स्पीड बस 52 सेंकड में पकड़ लेती है।

ट्रेन में ऑटोमेटिक दरवाजे लगे हैं। मेट्रो के जैसे ही ये दरवाजे ही ऑटोमेटिक खुलते हैं. साथ ही कई आधुनिक सुविधाओं से ट्रेन लैस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *