Nainital News:तीन हजार रुपये में बिका सरकारी बाबू का ईमान, घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

राज्यकर विभाग नैनीताल के कार्यालय में विजिलेंस की टीम ने जीएसटी पंजीकरण के नाम पर तीन हजार रुपये की घूस लेते डाटा एंट्री ऑपरेटर को गिरफ्तार किया है। कार्यालय में ही तैनात राज्य कर अधिकारी की भी मामले में संलिप्तता बताई जा रही है।जिसको लेकर फिलहाल टीम जांच कर रही है। साथ ही दोनों कर्मचारियों के घर पर भी टीम खोजबीन में जुटी हुई है।

🔹प्राथमिक जांच में आरोप सही पाए गए

विजिलेंस की टीम से भीमताल निवासी मनोज जोशी ने आठ दिन पूर्व जीएसटी पंजीकरण के कार्यालय में लेनदेन की शिकायत की थी। आरोप था, कि उसका पंजीकरण घूस नहीं देने के कारण लंबे समय से लटकाया जा रहा है। शिकायत मिलने पर प्राथमिक जांच में आरोप सही पाए गए। मंगलवार को विजिलेंस की नौ सदस्यीय टीम नैनीताल स्थित राज्य कर विभाग के कार्यालय पहुंची।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :विश्व हृदय दिवस के उपलक्ष्य में आगामी 29 सितंबर को यहां निशुल्क स्वास्थ्य शिविर का किया जायेगा आयोजन

🔹घंटों चली जांच प्रक्रिया 

टीम ने कार्यालय में उपनल के माध्यम से तैनात डाटा एंट्री ऑपरेटर दीपक मेहता को तीन हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ दबोच लिया। जांच में कार्यालय में ही तैनात राज्य कर अधिकारी की भी संलिप्तता सामने आई। घंटों चली जांच प्रक्रिया के बाद शाम को एसपी विजिलेंस प्रहलाद मीणा भी मौके पर पहुंच गए।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :राज्य की पहली आर्ट गैलरी वर्तमान में शोपीस बनकर रह गई,आठ महीने में मात्र 52 लोगों ने ही किया यहां का दीदार

🔹घर पर भी टीम करेगी तलाशी और जांच 

एसपी ने बताया कि फिलहाल दीपक मेहता को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। साथ ही राज्य कर अधिकारी की संलिप्तता मिलने पर उसकी भी जांच की जा रही है। पर्याप्त साक्ष्य मिले तो राज्य कर अधिकारी की भी गिरफ्तारी की जाएगी। बताया कि दोनों ही कर्मियों के हल्द्वानी स्थित घर पर भी टीम तलाशी और जांच कर रही है। बरामदगी होने पर कार्रवाई की जाएगी।