INTERNATIONAL NEWS:भारतीयों की मौजूदगी वाले इजरायली जहाज पर हमला, हूती विद्रोहियों पर गहराया शक

ख़बर शेयर करें -

यमन के अदन बंदरगाह के नजदीक इजरायली कारोबारी के स्वामित्व वाला टैंकर हमलावरों ने कब्जे में ले लिया है। अभी तक किसी ने भी इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है लेकिन माना जा रहा है कि इजरायल विरोधी हूती विद्रोहियों का यह कृत्य है।

जिस जहाज पर कब्जा हुआ है उसका नाम सेंट्रल पार्क है और उसे जोडैक नाम की कंपनी द्वारा संचालित किया जा रहा था।

💠फॉस्फोरिक एसिड भरा है टैंकर

इस टैंकर में फास्फोरिक एसिड भरा हुआ है। कंपनी ने कहा है कि उसकी प्राथमिकता जहाज में मौजूद 22 कर्मचारियों की सुरक्षा की है। इन कर्मचारियों में भारतीय, रूसी, बुल्गारियाई, वियतनामी और कई अन्य देशों के नागरिक हैं।

वैश्विक समुद्री जोखिम प्रबंधन फर्म एंब्रे ने कहा कि ऐसा लगता है कि अमेरिकी नौसैनिक बल स्थिति का जायजा ले रहे हैं और उन्होंने जहाजों को क्षेत्र से दूर रहने के लिए कहा है। यह तुरंत स्पष्ट नहीं हो सका कि इस घटना के पीछे कौन है। अदन पर यमन की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार से संबद्ध बलों और यमन के ईरानी समर्थित हूती विद्रोहियों से लड़ने वाले सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन का कब्जा है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :केदारनाथ में एसयूवी थार से खास मेहमानों को मंदिर तक ले जाने का मामला आया विवादों में,मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने जांच के दिए निर्देश

💠इजरायली मालवाही जहाज पर ड्रोन से हुआ था हमला

शुक्रवार को एक ईरानी ड्रोन ने हिंद महासागर में इजरायली स्वामित्व वाले वाणिज्यिक जहाज पर हमला किया।सीएमए सीजीएम सिमी कंटेनर जहाज पर हमला हूती विद्रोहियों द्वारा लाल सागर में इजरायल से जुड़े जहाज को अपहरण करने के एक हफ्ते बाद हुआ। 19 नवंबर को इजरायल रक्षा बलों ने पुष्टि की कि हूती विद्रोहियों ने बहामन-ध्वजांकित गैलेक्सी लीडर वाहन वाहक का अपहरण कर लिया, उन्होंने इसे बहुत गंभीर घटना कहा।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :एसएफआई ने एनटीए का फूंका पुतला,नीट-यूजी परीक्षा परिणाम में भ्रष्टाचार एवं कुप्रबंधन का लगााया आरोप

सेना ने कहा, जहाज भारत के लिए तुर्की से रवाना हुआ, जिसमें विभिन्न राष्ट्रों के नागरिक शामिल थे, इसमें इजरायली शामिल नहीं थे। यह इजरायली जहाज नहीं है। गैलेक्सी लीडर एक ब्रिटिश कंपनी द्वारा पंजीकृत है जिसका आंशिक स्वामित्व इजरायली टाइकून अब्राहम उंगर के पास है।

💠इजरायल ने बताया ईरानी आतंकवाद

यरुशलम में प्रधान मंत्री कार्यालय ने कहा कि, यह ईरानी आतंकवाद का एक और कृत्य है और वैश्विक शिपिंग लेन की सुरक्षा के संबंध में अंतरराष्ट्रीय परिणामों के साथ स्वतंत्र दुनिया के नागरिकों के खिलाफ ईरान की आक्रामकता में एक छलांग है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *