Uttarakhand News:एक बार फिर इस IPS अधिकारी ने 51 साल की उम्र में पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में दिखाया दमखम

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड पुलिस में एडीजी अमित सिन्हा ने एक बार फिर से विश्व मास्टर क्लासिक पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप 2023 में भारत का प्रतिनिधित्व किया। अमित सिन्हा उत्तराखंड के पहले ऐसे मेडलिस्ट बन गए हैं, जिन्होंने 465 किलोग्राम वजन उठाया। उन्होंने विदेशी धरती पर भारत का गौरव बढ़ाया है. अमित कुमार सिन्हा की इस उपलब्धि पर राज्यपाल गुरमीत सिंह, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी समेत डीजीपी अशोक कुमार ने बधाई दी है।

🔹चैंपियनशिप में किया उत्तराखंड का नाम रोशन

बता दें कि आईपीएस अमित सिन्हा यह कारनामा पहली बार नहीं कर रहे हैं, इससे पहले उन्होंने नेशनल लेवल पर पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में उत्तराखंड का नाम रोशन कर गोल्ड मेडल जीता था. अमित सिन्हा उत्तराखंड में युवाओं को बॉडी बिल्डिंग करने के लिए प्रेरित करते रहते हैं. मौजूदा समय में आईपीएस अमित सिन्हा उत्तराखंड पुलिस में दूरसंचार विभाग के अपर महानिदेशक पद पर तैनात हैं. इसके अलावा उत्तराखंड पुलिस स्पोर्ट्स बोर्ड के उपाध्यक्ष भी हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :धामी केबिनेट की बैठक शुरू,सीएम धामी की अध्यक्षता में हो रही है बैठक

🔹पहले भी दिखा चुके है जलवा 

बीती 12 जुलाई को उन्होंने आंध्र प्रदेश में नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल भी जीता था. 51 साल की उम्र में शरीर को कैसे बेहतर रखा जाता है और किस तरह से युवाओं को उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए. अमित सिन्हा इसका जीता जागता उदाहरण है. गौर हो विश्व मास्टर क्लासिक पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप मंगोलिया में आयोजित हो रही है. अमित सिंह साल 1997 बैच के आईपीएस अफसर हैं. उत्तराखंड के युवा पुलिसकर्मियों के लिए भी वो एक आइडल हैं. बताया जा रहा है कि 2 दिन बाद अमित सिंह उत्तराखंड वापसी करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :गुरिल्ला संगठन ने गुरिल्लों की मांगों पर कार्यवाही हेतु मुख्यसचिव उत्तराखंड शासन की अध्यक्षता में शीघ्र समीक्षा बैठक बुलाये जाने की करी मांग

🔹465 किलो वजन उठाया

दरअसल, विश्व मास्टर क्लासिक पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में 45 देशों के 350 खिलाड़ियों ने भाग लिया. जिसमें आईपीएस अमित कुमार सिन्हा ने 465 किलो वजन उठाया. हालांकि, वे पदक लेने से चूक गए, लेकिन उनके बेहतरीन प्रदर्शन ने भारत का गौरव बढ़ाया है. इतना ही नहीं विश्व मास्टर क्लासिक पावरलिफ्टिंग चैंपियनशिप में भाग लेने वाले वे उत्तराखंड के पहले एथलीट हैं।