Champawat News:देवीधुरा में फलों और पत्थरो से खेली गई बग्वाल,सीएम धामी भी रहे मौजूद

ख़बर शेयर करें -

चंपावत जिले में देवीधुरा के मां वाराही धाम में बृहस्पतिवार को रक्षाबंधन  के पर्व पर बग्वाल (पत्थरमार युद्ध) खेला गया।इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी भी यहां पहुंचे और इस बग्वाल के साक्षी बने।

🔹लोगों ने जमकर एक दूसरे पर फूल, फल और पत्थर मारे

इस दौरान यहां बड़ी संख्या में लोग कार्यक्रम में शामिल हुए। बग्वाल के दौरान आस्था के नाम पर राखी बंधे हाथों ने एक दूसरे पर फूलों, फलों के साथ ही पत्थरों की भी बौछार की लोगों ने जमकर एक दूसरे पर फूल, फल और पत्थर मारे। इस बार भी चार खामों (समूह) के बीच खेली गयी बग्वाल आठ मिनट चली । गंभीर रुप से घायल दो लोगों को उच्च स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया है।जहां उनका इलाज किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :उत्तराखंड के सभी सरकारी विभागों में ग्रिड कनेक्टेड रूफ टॉप सोलर प्लांट लगाएगा,तीन साल में सभी विभागों में सोलर प्लांट लगाने का रखा गया लक्ष्य

🔹8 मिनट तक चला बग्वाल 

मां वाराही धाम के मंदिर में सुबह छह बजे पीठाचार्य कीर्ति बल्लभ जोशी के नेतृत्व में विशेष अनुष्ठान संपन्न हुआ।जिसके बाद दोपहर 2:14 बजे से शंखनाद के साथ चारों खामों ने फलों के साथ ही पत्थरों के टुकड़ों और लाठी-डंडों के साथ बग्वाल शुरू कर दिया। करीब आठ मिनट बाद ही 2:22 बजे चंवर झुलाते हुए पुजारी ने शंखनाद के साथ बग्वाल समापन की घोषणा की और बग्वाली वीरों को आशीर्वाद दिया।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :एसएसपी अल्मोड़ा के निर्देंशन में वारंटियों की धरपकड़ जारी कोतवाली अल्मोड़ा पुलिस ने 01 वांरटी अभियुक्त को किया गिरफ्तार

🔹घायलों का मेले में लगे शिविर में उपचार किया गया

हालांकि, फल और फूल से ही बग्वाल खेलने की अनुमति थी लेकिन लोगों द्वारा किए गए पत्थर और ईंट के प्रहार से 100 से अधिक लोग घायल हो गए जिनका देवीधुरा के अस्पताल और मेले में लगे शिविर में उपचार किया गया।इसके अलावा, मामूली रूप से चोटिल हुए कई दर्शक बगैर उपचार के ही घरों को लौट गए।

🔹100 से अधिक लोग घायल हुए

चंपावत के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ केके अग्रवाल ने बताया कि बग्वाल में 100 से अधिक लोग घायल हुए। बग्वाल के दौरान चंपावत के जिलाधिकारी नवनीत पाण्डे और पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पींचा भी मौजूद रहे।