Breaking News :दुकान से घर के लिए निकला युवक मगर अस्पताल में मिली लाश,शहर में हडकंप

ख़बर शेयर करें -

देवलचौड़ निवासी एक युवक दुकान से स्कूटी लेकर घर के लिए निकला था, मगर बीच रास्ते से गायब हो गया। इसके बाद स्वजन ने पुलिस में गुमशुदगी दर्ज करवाई।

मामला कमिश्नर कार्यालय तक पहुंचा। इस बीच पता चला कि एक लावारिस युवक अस्पताल में भर्ती है।

सूचना मिलने पर पिता एसटीएच पहुंच गए। जहां से बेटे की लाश ही मिली। पुलिस फिलहाल मामले को हादसा बता रही है, लेकिन मृतक के परिवार ने हत्या की आशंका जताते हुए जांच की मांग की है। उसका कहना है कि बेटे के शरीर पर चोट के निशान हैं। इससे लगता है कि उसे मारा गया है।

💠पिता के ठेले से स्कूटी से हुआ रवाना

मूल रूप से चंपावत जिले के रैगांव निवासी 25 वर्षीय सूरज अधिकारी देवलचौड़ स्थित मानपुर पश्चिम गांव में परिवार के साथ किराए पर रहता था और निजी ट्रांसपोर्ट कंपनी में चालक था। सूरज के पिता दिलीप एसटीएच के पास खाने का ठेला लगाते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :अल्मोड़ा में नहीं मिल रहा लोगों को जल संकट से निजात

14 अप्रैल की सुबह साढ़े सात बजे वह घर जाने की बात कहकर पिता के ठेले से स्कूटी से रवाना हुआ, मगर शाम तक घर नहीं पहुंचा। जिस पर परिवार ने पुलिस में शिकायत की। कोई खास खोजबीन नहीं होने पर मंगलवार को दिलीप कमिश्नर दीपक रावत के पास मामले को लेकर पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने बताया कि सड़क हादसे में घायल एक युवक एसटीएच में भर्ती है।

इसके बाद दिलीप अस्पताल पहुंच गए, जहां गंभीर हालत में बेटे को आइसीयू में भर्ती देखा, मगर बुधवार तड़के सूरज ने दम तोड़ दिया। पिता का कहना है कि उसके बेटे की पीठ पर चोट के निशान हैं। ऐसे में आशंका है कि उसे किसी ने मारा है। मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :उत्तराखंड बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा में फेल छात्र-छात्राओं के लिए पास होने का मौका,सुधार परीक्षा के लिए कर सकते हैं आवेदन

14 को युवक लापता हुआ था। अगले दिन उसकी गुमशुदगी दर्ज की गई। प्राथमिक जांच में हादसे में घायल होने की बात हो रही है। परिवार के कहने पर मामले की जांच की जाएगी।- उमेश कुमार मलिक, कोतवाल

💠रात में हंगामा होने पर बेटे को बुलाया था

दलीप का कहना है कि 13 अप्रैल की रात कार सवार कुछ युवकों ने उसके ठेले पर खासा हंगामा किया। साथ ही धमकी भी दी। जिस वजह से उसने सूरज को बुलाया था। सुबह साढ़े सात बजे बेटा घर जाने की बात कहकर निकला। लेकिन उसके बाद संदिग्ध परिस्थितियों में घायल होकर अस्पताल पहुंच गया। वहीं, पीडि़त परिवार की मदद के लिए भाजपा मंडल अध्यक्ष राजेंद्र नेगी अस्पताल से लेकर मोर्चरी तक पहुंचे थे। उन्होंने दलीप अधिकारी को हरसंभव मदद का आश्वासन भी दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *