ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा संसदीय क्षेत्र में भाजपा ने हासिल की प्रचंड जीत 

चीन और नेपाल के साथ सीमा साझा करने वाला अल्मोड़ा अपने अलग मिजाज के लिए जाना जाता है. लोकसभा चुनाव 2024 के तहत पहले चरण में 19 अप्रैल को यहां पर वोटिंग कराई गई थी. यहां पर महज 48.74 प्रतिशत मतदान हुआ.इस लोकसभा सीट से सात प्रत्याशी मैदान में उतरे जिनकी किस्मत ईवीएम में कैद हो गई. यहां पर मुख्य मुकाबला दो टम्टा प्रत्याशियों के बीच रहा.

बीजेपी के अजय टम्टा और कांग्रेस के प्रदीप टम्टा के बीच यहां सीधा मुकाबला दिखा.

कभी कांग्रेस का किला अब बीजेपा का

अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र कभी काग्रेस का किला हुआ करता था. बाद में यह बीजेपी का गढ़ बन गया. अल्मोड़ा लोकसभा सीट पर 1962, 1967, 1971 के बाद 1977 के चुनाव में कांग्रेस को पहली बार यहां से हार का सामना करना पड़ा था. भारतीय लोक दल को यहां से जीत मिली थी. 1980 के आम चुनाव में कांग्रेस ने फिर से जीती और लगातार तीन लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की.

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :इन राज्यों में होगी भारी बारिश, जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

1991 से लेकर 2004 तक के चुनाव परिणाम कांग्रेस के लिए बहुत बुरे साबित हुए थे. 1991 से लेकर 2004 तक बीजेपी लगातार यहां से जीती और कांग्रेस को लगातार हार का मुंह देखाना पड़ा. 2009 में कांग्रेस के उम्मीदवार प्रदीप टम्टा ने चुनाव जीतकर बीजेपी को झटका दिया था.

बीजेपी के अजय टम्टा लगातार दो चुनाव (2014 और 2019) जीतने के बाद अब जीत की हैट्रिक लगाई 

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :मौसम विज्ञान केंद्र की ओर से जारी पूर्वानुमान के मुताबिक इन जिलों में हो सकती है भारी बारिश, जानिए कैसा रहेगा आज का मौसम

💠महिला मतदाता ज्यादा

अल्मोड़ा लोकसभा सीट में पुरुषों के मुकाबले महिला मतदाताओं की संख्या ज्यादा है. इसके साथ ही युवा वोटर भी निर्णायक हैं. अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के टिकट पर बची सिंह रावत ने लगातार 4 बार जीत दर्ज की है तो कांग्रेस के हरीश रावत भी यहां से लगातार 3 बार सांसद रहे हैं.

💠2019 का जनादेश

2019 के लोकसभा चुनाव में अजय टम्टा को जीत मिली थी. अजय टम्टा ने कांग्रेस के प्रदीप टम्टा को 2,32,986 वोटों से हराया. अजय टम्टा को जहां 444,651 वोट मिले तो वहीं प्रदीप टम्टा के खाते में 2,11,665 वोट आए. इससे पहले 2014 में भी अजय टम्टा ने प्रदीप टम्टा को शिकस्त दी थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *