Uttarakhand News:स्कूली पाठ्यक्रम में होगी चंद्रयान अभियान की पढ़ाई,,6वीं से 12वीं तक के बच्चों के सिलेबस में होगा शामिल

ख़बर शेयर करें -

चंद्रयान 3 अभियान की सफलता के बाद अब उत्तराखंड के शिक्षा विभाग ने अब प्रदेश के सरकारी स्कूलों में भारत के चंद्रयान अभियानों को स्कूली पाठ्यक्रमों में जोड़ने का फैसला ले लिया है। शिक्षा विभाग का मकसद चंद्रयान अभियान को पाठ्यक्रम में जोड़कर बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण को विकसित करना है।

🔹स्कूली पाठ्यक्रम में शामिल होगा चंद्रयान अभियान

उत्तराखंड में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान इसरो की तरफ से चलाए गए विभिन्न चंद्रयान अभियानों की जानकारी अब उत्तराखंड के स्कूली बच्चों को भी हो सकेगी। उत्तराखंड शिक्षा विभाग ने चंद्रयान अभियान को स्कूली पाठ्यक्रमों में शामिल करने का फैसला किया है. इसके लिए शिक्षा मंत्री की तरफ से विभागीय अधिकारियों को दिशा निर्देश भी दे दिए गए हैं। शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने विद्यालयी शिक्षा विभाग की बैठक ली।इस दौरान विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।इनमें से एक स्कूली पाठ्यक्रम में चंद्रयान अभियानों को जोड़ना भी विषय था।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पहुंचे अपने पैतृक गांव हड़खोला, डीडीहाट,ग्रामवासियों से की भेंट

🔹शिक्षा मंत्री ने अफसरों को दिए निर्देश

बैठक के दौरान साफ किया गया कि चंद्रयान 3 अभियान की सफलता से दुनिया में भारत के वैज्ञानिकों और देश की उपलब्धियों की चर्चा हो रही है। बच्चों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण को विकसित करने के लिए शिक्षा विभाग को भी अपने पाठ्यक्रम में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्थान द्वारा संचालित चंद्रयान अभियान को शामिल किया जाना चाहिए।शिक्षा मंत्री ने अधिकारियों को इसके लिए कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :उत्तराखंड की मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, दिए यह निर्देश

🔹एलटी शिक्षकों को मिलेंगे नियुक्ति पत्र

विभागीय अधिकारियों को कक्षा 6 से 12वीं तक के लिए विज्ञान वर्ग के अंतर्गत चरणबद्ध पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए कहा गया है।उधर दूसरी तरफ शिक्षक दिवस को भी इस बार बेहद धूमधाम से मनाने का फैसला लिया गया है। शिक्षक दिवस के दिन उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को सम्मानित भी किया जाएगा। दूसरी तरफ चयनित एलटी शिक्षकों को जल्द ही नियुक्ति पत्र दिए जाने का फैसला लिया गया है. इसको लेकर फैसला किया गया कि 6 सितंबर को ऐसे शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देकर पहली तैनाती दी जाएगी।