Almora News :यहा 54 से अधिक गांवों में 21 घंटे बिजली रही गुल,40 हजार से अधिक की आबादी को झेलनी पड़ी परेशानी

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा/धौलछीना। मौसम की बेरुखी ने भैंसियाछाना विकासखंड के 54 गांवों के लोगों को रुलाया। अंधड़ से पेड़ गिरने से बिजली लाइन टूट गई और इन गांवों में बत्ती गुल हो गई। क्षेत्र की 40 हजार से अधिक की आबादी को इससे परेशानी झेलनी पड़ी।

💠दूसरे दिन बुधवार को 21 घंटे बाद आपूर्ति बहाल हुई।

भैंसियाछाना के बाड़ेछीना, पेटशाल, धौलछीना, पल्यू, कसाण, जमराड़ी, मंगलता, कनारीछीना, शेराघाट सहित आसपास के 54 से अधिक गांवों को बिजली आपूर्ति करने वाली 11 केवीए लाइन में बीते मंगलवार शाम चतुर्भुज गांव के पास चीड़ का बड़ा पेड़ गिरने से टूट गई। ऐसे में तोली सब स्टेशन से जुड़े इन गांवों में बिजली आपूर्ति ठप हो गई और यहां ब्लैक आउट हो गया। क्षेत्र की 40 हजार की आबादी देर रात तक बिजली का इंतजार करती रही, लेकिन लोगों को मायूस होना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhabd News :एक जुलाई से देश भर में लागू होने वाले तीन नए आपराधिक कानूनों के लिए उत्तराखंड में तैयारी पूरी,50 अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर का प्रशिक्षण

सूचना के बाद यूपीसीएल की टीम मौके पर पहुंची, लेकिन बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी। ऐसे में लोगों को मोमबत्ती के सहारे घरों को रोशन करते हुए पूरी रात बगैर बिजली के गुजारनी पड़ी। वहीं, क्षेत्र के अस्पतालों में भी बिजली गुल रहने से मरीज, तीमारदार और स्वास्थ्य कर्मी परेशान रहे। अस्पतालों की लैब में मशीनरी ठप रहने से जांच भी नहीं हो सकी।

यह भी पढ़ें 👉  Weather Update :पहाड़ में अगले तीन दिन तक बारिश की संभावना,मैदानी क्षेत्रों में चलेंगी झोंकेदार हवाएं

💠उमस भरी गर्मी से बेहाल रहे लोग

धौलछीना। क्षेत्र के शेराघाट, मंगलता, नाली सहित अन्य घाटी वाले क्षेतों में तापमान बढ़ने के साथ ही उमस भरी गर्मी शुरू हो गई है और लोगों को पंखे का सहारा लेना पड़ रहा है। बिजली आपूर्ति ठप रहने से पंखे, फ्रिज शोपीस बने रहे, इससे लोगों को गर्मी सहने के लिए मजबूर होना पड़ा। वहीं लोग मोबाइल भी चार्ज नहीं कर सके।

बिजली लाइन में पेड़ गिरने से आपूर्ति ठप रही। लाइन ठीक कर बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई। रात में लाइन ठीक नहीं हो सकी।

– ललित मोहन डालाकोटी, जेई, यूपीसीएल, अल्मोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *