Almora News:नगर में 50 प्रतिशत से अधिक लोग गंदा पानी पीने को मजबूर,रास्तों पर बिछे पेयजल लाइन के जाल से बढ़ रहा खतरा

ख़बर शेयर करें -

नालों से गुजर रही लीकेज लाइन से दूषित पानी लोगों के घरों तक पहुंच रहा है। जल संस्थान की अनदेखी के चलते नगर की आधी आबादी को दूषित पानी पीना पड़ रहा है।इसके बावजूद लीकेज को ठीक कर लाइन को व्यवस्थित करने की योजना परवान नहीं चढ़ पा रही है।

🔹ऐसे में बढ़ रहा बीमारी का खतरा

अल्मोड़ा में अधिकतर हिस्सों में पेयजल लाइन नालियों से होकर गुजर रही हैं जो जगह-जगह क्षतिग्रस्त हैं। ऐसे में नालों का दूषित पानी लोगों के घरों तक पहुंच रहा है और वे इसका उपयोग करने के लिए मजबूर हैं। मंगलवार को संवाद न्यूज एजेंसी की टीम ने माल रोड, धारानौला, खोल्टा, राजपुरा, जोशीखोला, लोअर माल रोड, लिंक मार्ग समेत कई स्थानों पर पेयजल लाइन की पड़ताल की।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News:एमबीपीजी कालेज में छात्रसंघ अध्यक्ष पर प्राथमिकी दर्ज होने से गुस्साए समर्थक छात्रों ने परिसर में जमकर किया हंगामा,विद्यार्थियों को खदेड़ते हुए गेटों को करा दिया बंद

🔹नालों से गुजर रही पेयजल लाइन में गंदगी जमा 

माल रोड पर वन विभाग और टैक्सी स्टैंड के पास पेयजल लाइन नालियों में डूबी मिलीं जो कई जगह लीकेज हैं। गोपालधारा, खोल्टा, थपलिया, जाशीखोला आदि स्थानों में बड़े नालों से गुजर रही पेयजल लाइन में गंदगी जमा है। जल संस्थान को नगर के 17 बड़े नालों से गुजर रही पेयजल लाइन को 1.67 करोड़ रुपये से व्यवस्थित करना है। इसके लिए जल संस्थान को धनराशि भी अवमुक्त हो गई है। अब तक इस पर काम शुरू नहीं हो सका है और लोगों को दूषित पानी पीना पड़ रहा है। 

यह भी पढ़ें 👉  देश विदेश की ताजा खबरें सोमवार 15 जुलाई 2024

🔹रास्तों पर बिछे पेयजल लाइन के जाल से बढ़ा खतरा

नगर में कई पैदल रास्तों पर पेयजल लाइन का जाल बिछा है, इससे दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। रास्तों पर लीकेज लाइन से फिसलन पैदा हो गई है। इस गंभीर समस्या से मुक्ति दिलाने के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। 

पेयजल लाइन को व्यवस्थित करने के लिए शासन से बजट मिल चुका है। टेंडर प्रक्रिया पूरी होने पर ही कार्य संभव है-अरुण कुमार सोनी, अधिशासी अभियंता, जल संस्थान अल्मोड़ा।