Almora News :एसएसजे विश्वविद्यालय परिसर में 50 सोलर लाइट की जाएंगी स्थापित,सोलर लाइट की रोशनी से जगमग होगा परिसर

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा। सोबन सिंह जीना परिसर अब रात में भी सोलर लाइट की रोशनी से जगमग होगा। एसएसजे विश्वविद्यालय की पहल पर परिसर में 50 सोलर लाइट स्थापित की जाएंगी। इससे छात्रावास में रहने वाली छात्राओं और कर्मचारियों को आवाजाही के दौरान परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

💠सोलर साइट लगने से परिसर में तेंदुए समेत अन्य जंगली जानवरों की सक्रियता भी कम होगी।

एसएसजे परिसर में 15 लाख रुपये की लागत से मुख्य परिसर, महिला छात्रावास समेत दूसरे संपर्क मार्गों पर 50 सोलर लाइट स्थापित होंगी। परिसर में स्थित जियारानी और शैलजा छात्रावास में रहने वाली छात्राओं और कर्मियों की सुविधा और सुरक्षा के लिए सोलर पैनल लगाए जाएंगे। इन छात्रावास में अल्मोड़ा, बागेश्वर, रानीखेत, पिथौरागढ़ समेत अन्य जिलों से 200 से अधिक छात्राएं रहती है। इसके साथ ही कई कर्मचारी अपने आवास में रहते है। यहां रात होते ही अंधेरा छाने से छात्राओं और कर्मियों को चोटिल होने के साथ ही जंगली जानवरों के हमले का खतरा बना रहता है। सोलर साइट की रोशनी में अब वे आसानी से रात में आवाजाही कर सकेंगे। जल्द रात में भी परिसर सोलर लाइट की रोशनी से जगमगाएगा। इससे उन्हें राहत पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand News :72 घंटे बाद भी नही खुला बदरीनाथ राजमार्ग,2,800 से अधिक फंसे यात्री

💠तेंदुए का है आतंक

अल्मोड़ा। एसएसजे परिसर में बीते चार महिनों में तेंदुए ने शैलजा छात्रावास के समीप दो लावारिस जानवरों को अपना निवाला बनाया था। इससे छात्राओं और कर्मचारियों में तेंदुए की दहशत है। विश्वविद्यालय ने सुरक्षा कि दृष्टि से यहां 50 सोलर पैनल स्थापित करने का निर्णय लिया है। परिसर में पर्याप्त रोशनी होने से जंगली जानवरों के आंतक से उन्हें निजात मिल सकेगी।

यह भी पढ़ें 👉  Almora News :18 जुलाई से शुरू होगी उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटर की सुधार परीक्षा

छात्राओं और कर्मियों की सुरक्षा की दृष्टि से परिसर में सोलर पैनल लगाए जा रहे हैं। 15 लाख रुपये से 50 सोलर लाइट स्थापित होंगी। इससे रात में भी उनकी आवाजाही आसान होगी।

अमित कुमार त्रिपाठी, वित्त अधिकारी , एसएसजे विश्वविद्यालय अल्मोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *